सरोजिनी हत्याकांड : पिता-पुत्र बोले- इज्जत तो पहले ही चली गई थी, इसलिए उतारा मौत के घाट...

अवनीश कुमार| Last Updated: रविवार, 10 जुलाई 2022 (17:14 IST)
हमें फॉलो करें
कानपुर देहात। के थाना शिवली के अंतर्गत गुरुवार को सिंहपुर गांव में खेत की जुताई करने पहुंची सरोजिनी का खेत जुताई को लेकर विवाद हो गया था। विवाद इतना बढ़ गया कि सरोजिनी के पति दिवारी लाल व उसके पुत्र सत्यम ने लाठी-डंडों से जमकर पीटा और फिर ट्रैक्टर से रौंदकर सरोजिनी की हत्या कर दी थी।
हत्या को अंजाम देने के बाद घटनास्थल से फरार हो गए थे, जिसके बाद से पुलिस लगातार पिता-पुत्र की तलाश कर रही थी। पुलिस ने आरोपी पिता-पुत्र को मैथा नहर पुल के पास से किया कर लिया। आरोपी पिता-पुत्र की निशानदेही पर वारदात में प्रयुक्त डंडा भी बरामद कर लिया है।

बेइज्‍जती नहीं कर सके बर्दाश्त : थाना शिवली के सिंहपुर गांव में हुए सरोजिनी हत्याकांड के आरोपी पिता-पुत्र दिवारी लाल व सत्यम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी पिता-पुत्र दिवारी लाल व सत्यम ने पुलिस को बताया कि सरोजिनी पहले से करोमा गांव निवासी अपने प्रेमी हरिओम के साथ रह रही थी।

सरोजिनी के कारण जिल्लतभरी जिंदगी पहले से ही जी रहे थे। इसके बाद भी सरोजिनी ने खेती के लिए थाना दिवस में शिकायत की थी।इस पर लेखपाल राजनारायन ने उसके और सरोजिनी के बीच पंचायत करई थी और सरोजिनी को खेती में भी हिस्सा दे दिया।

पिता-पुत्र दिवारी लाल व सत्यम बोले, इज्जत तो पहले ही चली गई थी लेकिन प्रेमी के साथ मिलकर सरोजिनी ने खेती भी छीन ली थी।पिता-पुत्र दिवारी लाल व सत्यम बोले कि सम्मान के साथ खेती भी जा रही थी।जिसको लेकर खेत जुताई के समय विवाद हो गया था, जिसके चलते पिता-पुत्र दिवारी लाल व सत्यम ने सरोजिनी को मौत के घाट उतार दिया।पिता-पुत्र दिवारी लाल व सत्यम ने पुलिस के सामने कहा कि जो होना था वह हो गया उन्हें कोई भी पछतावा नहीं है।

क्या बोले अधिकारी :

सीओ रसूलाबाद आशापाल सिंह ने बताया कि हत्यारोपी दिवारी लाल व सत्यम को गिरफ्तार कर लिया गया है।पूछताछ में दोनों ने अपना जुर्म कबूल किया है।दोनों ही आरोपियों को कोर्ट के समक्ष पेश करके जेल भेज दिया गया है।



और भी पढ़ें :