उत्तराखंड में चौथा हिमपात, कड़ाके की ठंड...

देहरादून| पुनः संशोधित शुक्रवार, 23 जनवरी 2015 (14:05 IST)
- ललित भट्ट देहरादून। पहाड़ों में बर्फबारी और बारिश ने कड़ाके की बढ़ा दी है। पिथौरागढ़, उत्तरकाशी, चमोली, टिहरी, रूद्रप्रयाग, नैनीताल, अल्मोड़ा, चम्पावत, बागेश्वर जिलों के ऊचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी तो निचले इलाकों में बारिश पूरे दिन होती रही है।
 
एनडीएमए ने राज्य के 2500 मीटर के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी से हिमस्खलन एवं बर्फीले तूफान की चेतावनी दे रखी है। शासन ने जिलों से इसके बचाव करने एवं जानमाल की हानि को यथासंभव बचाने के उपाय करने को कहा है। लेकिन जिला प्रशासन के पास कोई ऐसी तकनीक नहीं है जो कि इस बर्फीले तूफान से बचा सके। पुलिस एवं स्टेट डिजास्टर रिलीफ फोर्स को जिलों को अलर्ट पर रखा है। ताकि किसी अनहोनी की दशा में सहायता शीघ्र पहुंचाई जा सके। सूत्रों के अनुसार मिलेट्री को भी अलर्ट पर रखा गया है।
 
उधर मौसम विभाग के निदेशक डॉ. आनंद शर्मा के अनुसार 24 जनवरी तक मौसम का यहीं आलम रहेगा। ऊंचे इलाकों में हिमपात तेज हो सकता है। मैदानी क्षेत्रों में बारिश होगी। मौसम की इस नासाजी से पूरे का तापमान गिर गया है कड़ाके की ठंड ने जनजीवन को पूरी तरह प्रभावित किया है।
 
नैनीताल, मुक्तेश्वर, रामगढ़, खपराड़, धानाचूली, पहाड़पानी, धौलादेवी, जलना, शहरफाटक, ओखलकाण्डा, चीन सीमा के तमाम गांवों के बीच बर्फबारी जारी है। मसूरी में दिनभर रूक रूककर बारिच्च होती हिमपात की सूचना नहीं है।
 
देहरादून में तो कल से ही बदली छाई थी गुरुवार को दिनभर छीटे पड़ते रहे। आगामी 48 घंटों तक इसी हालत के जारी रहने की आशंका जताई जा रही है।
 
केदारनाथ में तापमान माइनस नौ डिग्री पहुंच गया है। वहां भी जमकर बर्फबारी हो रही है बद्रीनाथ, औली, जोशीमठ, खिर्सू , पौढ़ी में भी बर्फ पड़ने से मौसम की पलटी मारने के बाद का रूप सामने आ गया है। 
 



और भी पढ़ें :