प्रवर्तन अधिकारी के सामने पेश हुईं राबड़ी

पटना| Last Updated: शनिवार, 2 दिसंबर 2017 (18:02 IST)
पटना। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से आए के अधिकारी के समक्ष प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी उपस्थित हुई, जहां जांच एजेंसी के स्थानीय कार्यालय में स्थानीय अधिकारियों के साथ उनसे रेलवे टेंडर घोटाला मामले में जारी है।

राबड़ी को पूछताछ के लिए निदेशालय के स्थानीय कार्यालय में 11 बजे पेश होना था। लेकिन वे निर्धारित समय से करीब 1 घंटे विलंब से कार्यालय पहुंचीं। निदेशालय के क्षेत्रीय कार्यालय पहुंचीं पूर्व मुख्यमंत्री के साथ उनकी बड़ी बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती तथा उनके पति और राजद प्रमुख के विश्वासपात्र माने जाने वाले विधायक भोला यादव थे।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि निदेशालय का कार्यालय आमतौर पर शनिवार को बंद रहता है। राबड़ी से लालू के रेलमंत्रित्वकाल में हुए कथित टेंडर घोटाले को लेकर विशेष रूप से पूछताछ के लिए इसे शनिवार को खोला गया था।
गत जुलाई महीने में इस मामले में प्राथमिकी दर्ज होने के बाद जांच एजेंसी ने 6 बार समन भेजकर राबड़ी को दिल्ली में पूछताछ के लिए उपस्थित होने को कहा था। पूर्व मुख्यमंत्री की ओर से इंकार कर दिए जाने के बाद शनिवार को यहां उनसे पूछताछ की जा रही है।

हाल ही में पटना में आयोजित राजद के खुले अधिवेशन के दौरान राबड़ी ने रेलवे टेंडर घोटाला और बेनामी संपत्ति को लेकर सीबीआई, ईडी और आयकर विभाग द्वारा उनके साथ-साथ उनके परिवार के अन्य सदस्यों से पूछताछ किए जाने की ओर इशारा करते हुए कहा था कि ऐसा उन्हें डराने के लिए किया जा रहा है लेकिन वे स्वयं और उनका परिवार इससे डरने वाला नहीं है।
केंद्रीय एजेंसियों के बार-बार समन भेजे जाने और अपने नहीं उपस्थित होने की ओर इशारा करते हुए राबड़ी ने कहा था कि चाहे वह ईडी हो या आयकर विभाग अथवा सीबीआई, उनका काम है कि वह उनके घर और बिहार में आकर उनसे पूछताछ करे, हमारा काम नहीं...। नोटिस पर नोटिस भेजते रहें। उनका काम है। वे बिहार में आकर पूछताछ करें।

वहीं लालू ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए इस पूछताछ को लेकर कोई दिक्कत नहीं होने की ओर इशारा करते हुए कहा कि ईडी का काम है पूछताछ करना। पूछेगा तो पूछेगा। कौन चीज छुपाया हुआ है, कुछ नहीं है। (भाषा)



और भी पढ़ें :