मान ने भ्रष्टाचार के आरोपी मंत्री विजय सिंगला को कैबिनेट से किया बर्खास्त, केजरीवाल बोले- फैसले पर पूरे देश को गर्व

Last Updated: मंगलवार, 24 मई 2022 (23:09 IST)
हमें फॉलो करें
चंडीगढ़। को मुक्त राज्य बनाने की अपनी प्रतिबद्धता को सिद्ध करते हुए मुख्यमंत्री ने अपनी ही सरकार के स्वास्थ्यमंत्री विजय सिंगला को अपने विभाग में एक प्रतिशत कमीशन मांगने के दोषों के कारण बर्खास्त कर दिया है।

अपने मंत्री को बर्खास्त करते हुए मुख्यमंत्री मान ने कहा कि हम रिश्वतखोरी और घूसखोरी कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। भ्रष्टाचार करने वाला व्यक्ति चाहे कितना भी रसूखदार क्यों न हो, बक्शा नहीं जाएगा। हमारी सरकार में किसी को भी गैरकानूनी और भ्रष्ट गतिविधियों की इजाजत नहीं दी जाएगी।
Koo App
CM @BhagwantMann’s big crackdown on corruption. Reiterating that his Govt won’t tolerate of even a single penny, whether it be his own MLA or Minister, Chief Minister announced that Health Minister has been suspended on corruption charges and FIR has been filed in the matter. - CMO (@CMOPb) 24 May 2022
मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि उन्होंने डॉ. सिंगला को अपनी कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया है और पुलिस को केस दर्ज करने के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने कहा कि यह मामला सिर्फ़ उनके ही ध्यान में था और वे इसको आसानी से दबा या टाल सकते थे, परंतु उन्होंने खटकड़कलां की पवित्र धरती पर पंजाब को भ्रष्टाचार मुक्त करने का प्रण लिया था और इस दिशा में यह एक ऐतिहासिक कदम है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों ने उनको पारदर्शी और भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था के लिए चुना है। इसलिए हमारा यह फर्ज बनता है कि हर पंजाबी की उम्मीदों और इच्छाओं पर खरा उतरें। उन्होंने कहा कि देश को आजाद हुए 75 साल हो चुके हैं, लेकिन आज तक देश में ऐसे सिर्फ दो ही मिसाल मिली हैं। पहला, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने 2015 में तब मिसाल कायम की, जब उन्होंने भ्रष्टाचार के दोषों के कारण अपने खाद्य एवं सप्लाई मंत्री को बर्खास्त किया था। दूसरी मिसाल आज पंजाब ने पेश की है। उन्होंने कहा कि डॉ. सिंगला ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है और अब कानून अपना काम करेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उनसे पहले वाले मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार को पनाह देते रहे और बाद में यह कहते थे कि उन्हें अपने मंत्रियों के भ्रष्टाचार और माफिया से संबंधित गतिविधियों में लिप्त होने की जानकारी थी। लेकिन अब पंजाब में ईमानदार सरकार है। अब जानकारी मिलते ही भ्रष्टाचारियों के खिलाफ तुरंत और सख्त कार्रवाई होगी, चाहे वह हमारा ही मंत्री या विधायक क्यों न हो।
विरोधी दलों पर तंज कसते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि विरोधी पार्टी हमारे इस फैसले पर निशाने साधेंगे, जबकि वे हमेशा भ्रष्ट नेताओं को बचाते और आगे बढ़ने में मदद करते रहे हैं और हमने भ्रष्टाचार के खिलाफ कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार का इरादा और नीयत साफ है। भ्रष्ट कार्यों की किसी को भी इजाजत नहीं दी जाएगी। जो भी भ्रष्टाचार में शामिल होगा, उसे गंभीर नतीजे भुगतने पड़ेंगे।
भ्रष्टाचारियों के लिए जगह नहीं : मुख्यमंत्री भगवंत मान के इस घोषणा के बाद आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री ने भगवंत मान की तारीफ की और कहा कि आम आदमी पार्टी देश की एकमात्र पार्टी है जहां भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचारियों के लिए कोई जगह नहीं है। भ्रष्टाचार के खिलाफ छोटे भाई भगवंत के फैसले पर हम सबको गर्व है। इस फैसले से सिर्फ पंजाब ही नहीं पूरे देश के लोगों को गर्व महसूस हुआ है।



और भी पढ़ें :