उत्तर भारत का सबसे बड़ा वाहन कमेला सोतीगंज बाजार, पुलिस की नकेल से कबाड़ियों में हड़कंप

हिमा अग्रवाल| Last Updated: शुक्रवार, 30 जुलाई 2021 (23:53 IST)
मेरठ। वाहन चोरी कटान की बड़ी मंडी मेरठ का है। इस बाजार में चंद मिनटों के अंदर लग्जरी गाड़ियां डिस्मेंटल हो जाती हैं। अब इस चोर बाजार पर पिछले 2 सप्ताह से वाहनों के कमेले सोतीगंज में पुलिस की छापेमारी जारी है। पुलिस ने 112 कबाड़ियों की सूची तैयार की है, जो इस गंदे धंधे से जुड़े हुए हैं। अब इस अवैध व्यापार से जुड़े गोदाम मालिकों और कबाड़ गोदाम संचालकों के खिलाफ गैंगस्टर और गुंडा एक्ट में कार्रवाई की जाएगी।
एशिया का सबसे बड़ा चोरी वाहन कटान बाजार सोतीगंज में पुलिस का लगातार शिकंजा कस रहा है। कई दशकों से ये बाजार वाहन स्लाटर हाउस के नाम से जाना जाता है। इस वाहन कमेले को लेकर यूपी के मुख्यमंत्री योगी ने भी नाराजगी जाहिर करते हुए स्थानीय पुलिस को निर्देश दिए थे, कि जो लोग चोरी के वाहन काटते हैं, उन सभी पर सख्त कार्रवाई की जाए। एसएसपी के निर्देश पर स्पेशल-75 की छह टीमें बनाकर एएसपी कैंट सूरज राय के नेतृत्व में सोतीगंज में बड़ी कार्रवाई करते हुए कबाड़ियों की धरपकड़ के लिए छापा मारा गया। छापा पड़ते ही सोतीगंज बाजार में हड़कंप मच गया।

सोतीगंज बाजार को 75 पुलिसकर्मियों ने चारों तरफ से घेरकर एक साथ 10 गोदामों पर छापेमारी करके चोरी के वाहनों के इंजन, गाड़ी की बॉडी और अन्य पार्ट बरामद किए हैं। इस दौरान 40 से ज्यादा इंजन ऐसे थे जिनका रजिस्टर में कोई रिकॉर्ड नहीं है। वहीं पुलिस ने इन इंजनों की जांच के लिए निवाड़ी से फोरेंसिक टीम बुलाई है।

छापेमारी के दौरान इंजन पर से चेसिस नम्बर भी मिटे हुए थे और चोरी की गाड़ियों के पार्ट इधर-उधर बिखरे पड़े मिले हैं। छापेमारी के दौरान कुछ कबाड़ी गोदाम छोड़कर भाग रहे थे, जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस को जिन दुकानों और गोदामों से यह सामान मिला है उनको भी जल्दी गिरफ्तार किया जाएगा।

मेरठ कैंट एएसपी सूरज राय ने बताया कि थाना सदर बाजार क्षेत्र स्थित वाहन कटान सोतीगंज बाजार पर पिछले दो सप्ताह से कार्रवाई की जा रही है, 14 कबाडिय़ों के खिलाफ गैगस्टर एक्ट में कार्रवाई की जा रही है, कुछ वाहन कटान करने वाले कबाड़ी अब इस काम से पैसा कमाकर छोड़ चुके हैं। अब ऐसे लोगों की सूचना आयकर विभाग को दी जाएगी और वह अपनी जांच करेगा।

एएसपी ने बताया कि पुलिस के डर से बहुत से कबाड़ी अब सही रास्ते पर आ गए हैं और वैध रूप से कटान कर रहे हैं, लेकिन कुछ गलत लोग नम्बर एक की गाड़ियों की आड़ में चोरी के वाहन काट रहे हैं, इस बाजार में कुछ कबाड़ी एक्सीडेंटल गाड़ी को काटने के लिए लाते हैं और एक्सीडेंट गाड़ी की आड़ लेते हुए चोरी के वाहन काटते हैं, इनकी सूची पुलिस ने बना ली है और इनकी संपत्ति की जांच करके गैंगस्टर और गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी।
ALSO READ:

Assam-Mizoram Dispute: असम पुलिस ने मिजोरम के 6 अधिकारियों को थाने बुलाने का भेजा नोटि‍स
छापेमारी के दौरान मिले सामान और रजिस्टर में दर्ज सामान का मिलान भी किया गया, लेकिन जिन गोदाम पर रिकॉर्ड मिलान नहीं हुआ, उन्हें सील कर दिया गया है। कई कबाड़ियों को हिरासत में लेकर थाने भिजवा दिया। एएसपी ने बताया कि इंजन की संख्या बढ़ रही है। सभी को कब्जे में लिया गया है। कबाड़ी जिसका विवरण उपलब्ध करा देगा, उसको रिलीज कर दिया जाएगा बाकी पर रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।
थाना सदर बाजार क्षेत्र स्थित सोतीगंज मार्केट आजादी के बाद से ऑटो पार्ट सेक्टर की बड़ी मंडी है, लेकिन अब यह एशिया का सबसे बड़ा वाहन कटान बाजार के नाम से जाना जाता है, लेकिन अब ये वाहन स्लाटर के नाम से विख्यात है। इस बाजार में पुलिस सख्ती के बाद यहां से चोरी किए गए वाहन कम काटे जा रहे हैं, बल्कि बाहरी क्षेत्रों और राज्यों से लग्जरी गाड़ियां कटने के लिए आ रही हैं।



और भी पढ़ें :