समीर वानखेड़े के खिलाफ जांच के लिए कल दिल्‍ली से मुंबई जाएगी NCB की टीम, पत्नी बोलीं- आ रहे हैं धमकीभरे फोन

Last Updated: मंगलवार, 26 अक्टूबर 2021 (21:35 IST)
दिल्ली/मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे की ड्रग केस में गिरफ्तारी के मामले में एनसीबी की मुंबई क्षेत्रीय इकाई के निदेशक समीर वानखेड़े और कुछ अधिकारियों द्वारा 25 करोड़ रुपए मांगने संबंधी शिकायत की जांच के आदेश के विभागीय टीम कल दिल्‍ली से मुंबई जाएगी।
खबरों के मुताबिक एनसीबी की पांच सदस्यीय टीम आरोपों की जांच के लिए कल दिल्ली से मुंबई जाएगी, जिसमें ड्रग केस के गवाह प्रभाकर सेल के द्वारा लगाए गए भ्रष्‍टाचार के आरोपी की जांच की जाएगी। इस टीम में एनसीबी के डीडीजी ज्ञानेश्‍वर सिंह समेत 4 अन्‍य अधिकारी शामिल हैं।

पत्नी बोली भय में जी रहे हैं : एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर ने मंगलवार को अपने पति का समर्थन किया और वानखेड़े के खिलाफ महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक लगाए गए आरोपों को खारिज किया। रेडकर ने साथ ही कहा कि परिवार को धमकी भरे फोन आ रहे हैं, उन्हें ऑनलाइन ट्रोल किया जा रहा है और वे भय में जी रहे हैं।

वानखेड़े की पत्नी एवं अभिनेत्री क्रांति रेडकर ने उपनगरीय अंधेरी में मीडिया से बात करते हुए अपने पति को एक ईमानदार सरकारी अधिकारी बताया और मुंबई क्रूज मादक पदार्थ मामले में एनसीबी के एक गवाह द्वारा जबरन वसूली के प्रयास के किए गए दावे का खंडन किया। इस मामले की निगरानी वानखेड़े द्वारा की जा रही है।
बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान मामले के सिलसिले में गिरफ्तार किए गए 20 लोगों में शामिल हैं। यह मामला इस महीने की शुरुआत में मुंबई तट के पास से एक क्रूज जहाज से मादक पदार्थ की कथित जब्ती से संबंधित है। रेडकर ने दावा किया कि एक वर्ग उनके पति के खिलाफ काम कर रहा है।

उन्होंने कहा कि मेरे पति एक ईमानदार अधिकारी हैं और पिछले 15 वर्षों से ईमानदारी से अपना कर्तव्य निभा रहे हैं। समीर किसी राजनीतिक दल से नहीं जुड़े हैं, वह केंद्र सरकार के एक कर्मचारी हैं और अपना काम कर रहे हैं, कुछ लोगों को उनके काम से समस्या हो रही है जिसके चलते सब कुछ (वानखेड़े के खिलाफ आरोपों से संबंधित विवाद) हो रहा है।’’
रेडकर ने कहा कि जो लोग समीर के खिलाफ हैं, वे हमें यह कहते हुए धमका रहे हैं कि वे हमें जला देंगे और हमारे परिवार को मार देंगे लेकिन पुलिस ने हमें सुरक्षा दी है और वे हमारी बहुत अच्छी देखभाल कर रही है।

मलिक द्वारा वानखेड़े के खिलाफ लगाए गए आरोपों के बारे में पूछे जाने पर, उन्होंने कहा कि राज्य के मंत्री ने दावे सोशल मीडिया पर किए हैं, न कि अदालत के सामने।’’
रेडकर ने कहा कि मंत्री नवाब मलिक ने हमारे खिलाफ आरोप ट्विटर पर लगाए हैं और ट्विटर कोई अदालत नहीं है। अगर मलिक समीर के खिलाफ आरोप अदालत में लगाते हैं और अगर सभी आरोप साबित हो जाते हैं, तभी कोई व्यक्ति अपराधी बनता है। मीडिया ट्रायल से उन्हें कोई मदद नहीं मिल सकती है।

मलिक ने सोमवार को दावा किया कि वानखेड़े जन्म से एक मुस्लिम हैं और वह अपनी धार्मिक पहचान छिपा रहे हैं। मलिक के दावों के बारे में पूछे जाने पर रेडकर ने कहा कि ये असत्य हैं। उन्होंने कहा कि समीर और मैं जन्म से हिंदू हैं। हमने कभी कोई अन्य धर्म नहीं अपनाया है। हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं। समीर के पिता भी एक हिंदू हैं, जिन्होंने एक मुस्लिम महिला से शादी की...मेरी सास अब इस दुनिया में नहीं हैं।’’
एनसीबी के गवाह प्रभाकर सैल के इस दावे के बारे में पूछे जाने पर कि वानखेड़े और एजेंसी के कुछ अधिकारियों ने आर्यन खान को मादक पदार्थ मामले में छोड़ने के लिए 25 करोड़ रुपये की जबरन वसूली का प्रयास किया था, रेडकर ने कहा कि अगर उनके पास सबूत हैं, तो उन्हें उसे किसी अदालत में पेश करना चाहिये।

इससे पहले दिन में, महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने वानखेड़े पर एक नया हमला किया और उन पर गैरकानूनी रूप से फोन टैप करने का आरोप लगाया और कहा कि वह आईआरएस अधिकारी के ‘गलत कार्यों’ पर एक पत्र एजेंसी के प्रमुख को सौंपेंगे।
मलिक ने कहा कि समीर वानखेड़े मुंबई और ठाणे के दो लोगों के जरिए कुछ लोगों के मोबाइल फोन गैरकानूनी तरीके से टैप कर रहे हैं। मलिक अपने दामाद की गिरफ्तारी के बाद से लगातार वानखेड़े पर निशाना साध रहे हैं। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि वानखेड़े ने पुलिस से उनके परिवार के एक सदस्य की कॉल डिटेल रिकॉर्ड (सीडीआर) भी मांगी थी।



और भी पढ़ें :