मैसेंजर ऑफ गॉड विवाद, सेंसर बोर्ड प्रमुख लीला सैमसन ने दिया इस्तीफा

msg
नई दिल्ली| Last Updated: शुक्रवार, 16 जनवरी 2015 (19:34 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख की मुख्य भूमिका वाली विवादास्पद फिल्म 'मैसेंजर आफ गॉड’ को फिल्म प्रमाणन अपीलीय न्यायाधिकरण (एफसीएटी) द्वारा प्रदर्शन के लिए हरी झंडी दिए जाने की खबरों के बीच प्रमुख ने गुरुवार रात कहा कि उन्होंने पद से त्यागपत्र देने का निर्णय कर लिया है।
यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें मीडिया में आई उन खबरों की जानकारी है कि फिल्म को प्रदर्शन के लिए एफसीएटी द्वारा मंजूरी दी जा चुकी है, सैमसन ने कि मैंने ऐसा सुना है। अभी तक लिखित में कुछ नहीं है। फिर भी यह फिल्म प्रमाणन बोर्ड का मजाक है। मेरा त्यागपत्र तय है। मैंने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सचिव को सूचित कर दिया है। बहरहाल एफसीएटी के निर्णय, यदि ऐसा कोई निर्णय हुआ है तो, को लेकर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।
 
सेंसर बोर्ड ने 'मैसेंजर ऑफ गॉड' फिल्म के मुद्दे को एफसीएटी को भेज दिया था।  यह पूछे जाने पर कि उन्होंने पद छोड़ने का निर्णय क्यों किया, उन्होंने फिल्म को कथित मंजूरी मिलने का उल्लेख नहीं किया लेकिन कहा कि बताए गए कारणों में कथित ‘हस्तक्षेप, दबाव, पैनल सदस्यों और संगठन अधिकारियों का भ्रष्टाचार शामिल है जिनकी नियुक्ति मंत्रालय द्वारा की जाती है।’ 
 
सैमसन के अनुसार एक ऐसे संगठन का प्रबंधन करना पड़ा है जिसके बोर्ड की नौ माह से ज्यादा समय से बैठक नहीं हुई क्योंकि मंत्रालय के पास सदस्यों की बैठक को अनुमति देने के लिए कोष नहीं है। उन्होंने कहा कि सेंसर बोर्ड के सभी सदस्यों और अध्यक्ष का कार्यकाल समाप्त हो चुका है। लेकिन चूंकि नई सरकार नया बोर्ड और अध्यक्ष नियुक्त नहीं किया है, कुछ का कार्यकाल बढ़ा दिया गया और उन्हें प्रक्रिया पूरी होने तक कार्य जारी रखने को कहा गया।
 
इस बीच सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के एक प्रवक्ता ने कहा कि हमारी सूचना के अनुसार एफसीएटी ने फिल्म को मंजूरी दे दी है, लेकिन लिखित आदेश का इंतजार है। प्रवक्ता ने कहा कि फिल्म ‘मादक पदार्थ के खिलाफ है और उसमें कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है।’ गृह मंत्रालय इसे लेकर चिंतित है कि फिल्म के रिलीज होने से कुछ वर्गों की ओर से विरोध हो सकता है क्योंकि सिख संगठन फिल्म का विरोध कर रहे हैं। मंत्रालय ने इस संबंध में राज्यों को परामर्श जारी किया है। (भाषा)



और भी पढ़ें :