पंजाब में न कैप्टन न ही सिद्धू, केजरीवाल की आप मार सकती है बाजी!

Last Updated: शुक्रवार, 3 सितम्बर 2021 (18:26 IST)
हमें फॉलो करें
चंडीगढ़। पंजाब में मुख्‍यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और प्रदेश अध्‍यक्ष नवजोतसिंह सिद्धू के बीच मचे सियासी घमासान के बीच आगामी विधानसभा चुनाव (Punjab assembly elections 2022) में अरविन्द केजरीवाल की आम आदमी पार्टी सबसे बड़े दल के रूप में उभर सकती है। हालांकि सी-वोटर के सर्वे के मुताबिक इस बार किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत मिलता हुआ नहीं दिखाई दे रहा है।


किसको कितने वोट : इस सर्वे के मुताबिक को आगामी विधानसभा चुनाव में 35 फीसदी वोट मिल सकते हैं, जबकि पिछले चुनाव की तुलना में काफी कम यानी 29 फीसदी वोटों पर सिमट सकती है। (बादल) को यहां 22 फीसदी वोट मिल सकते हैं, वहीं अकाली दल की कभी सहयोगी रही भाजपा 7 फीसदी वोट हासिल कर सकती है।

इस सर्वे के मुताबिक आप को छोड़कर सभी दलों के वोट प्रतिशत में गिरावट देखने को मिल सकती है। आम आदमी के वोट प्रतिशत में करीब 11 फीसदी का इजाफा हो सकता है, जबकि कांग्रेस के वोटों में 10 प्रतिशत की गिरावट आ सकती है। अकाली दल के वोटों में भी 3 फीसदी की गिरावट आ सकती है।


किस दल को कितनी सीटें : सर्वे के मुताबिक सत्तारूढ़ कांग्रेस इस बार 38 से 46 सीटों पर सिमट सकती है, जबकि आम आदमी पार्टी को 51 से 57 सीटें मिल सकती हैं। अकाली दल को 16 से 24 सीटें मिलने की संभावना जताई जा रही है, वहीं भाजपा का खाता भी मुश्किल से खुलता दिख रहा है। भाजपा को अधिकतम 1 सीट मिल सकती है।

मुख्‍यमंत्री कौन? : इस सर्वे के मुताबिक मुख्‍यमंत्री पद के लिए पंजाब में पहली पसंद आप संयोजक केजरीवाल हैं। उन्हें 22 फीसदी लोगों ने इस पद के लिए पसंद किया। हालांकि आप यदि सत्ता के करीब पहुंचती है तो मुख्‍यमंत्री पंजाब का ही कोई व्यक्ति होगा। वहीं, इसके बाद सत्तारूढ़ कांग्रेस के मुख्‍यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू इस दौड़ में पिछड़ते हुए दिख रहे हैं।




और भी पढ़ें :