Chardham Yatra: बारिश और बर्फबारी से रोकी गई यात्रा आज से फिर बहाल, हेली सेवा भी हुई सुचारु

एन. पांडेय| Last Updated: बुधवार, 25 मई 2022 (11:22 IST)
हमें फॉलो करें
देहरादून। और बर्फबारी के बाद सोमवार और मंगलवार को रोकी गई चारधाम यात्रा बुधवार को मौसम साफ होने के बाद सुचारु हो गई है। इस दौरान धाम के लिए स्थगित हुई हेली सेवा भी सुचारु हो गई है। केदारनाथ सहित बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में मौसम साफ होने के बाद तीर्थयात्री इन धामों की ओर रवाना हुए।
ALSO READ:

क्या आप जानते हैं सोमनाथ मंदिर परिसर में स्थित 'बाण स्तम्भ' के बारे में

मंगलवार को मौसम खराब होने के बाद केदारनाथ और यमुनोत्री धाम की यात्रा रोकी गई थी और हजारों तीर्थयात्री विभिन्न पड़ावों पर रोके गए थे। पैदल ट्रैक पर चोटिल होने के खतरे को देखते हुए केदारनाथ और यमुनोत्री धाम की यात्रा मंगलवार को आधे दिन ही चल पाई। इन धामों में दर्शन के लिए जाने वाले करीब 12 हजार श्रद्धालुओं को पड़ावों पर ही रोका गया। इन्हें बुधवार सुबह आगे की यात्रा के लिए रवाना किया गया, वहीं धाम व गंगोत्री की यात्रा पूर्व की भांति ही सुचारु रही।


केदारनाथ धाम के लिए हेली सेवाएं भी धुंध की वजह से मंगलवार को पूरे दिन ठप रहीं। सुबह के वक्त केवल 3 ही उड़ानें हो पाईं। केदारनाथ धाम में सुबह 9 बजे बारिश और बर्फबारी शुरू हुई, जो दोपहर 1 बजे तक चली। अलग-अलग चरणों में पड़ावों से करीब 10 हजार श्रद्धालुओं को धाम के लिए रवाना किया गया, लेकिन बारिश को देखते हुए दोपहर 12 बजे करीब 8 हजार यात्रियों को पड़ावों पर ही रोक दिया गया।
गौरीकुंड से घोड़ा व खच्चरों की आवाजाही भी रोक दी गई। दोपहर तक केवल पैदल तीर्थयात्रियों को पड़ावों तक जाने की अनुमति दी गई। दर्शन कर लौट रहे श्रद्धालुओं को भी सुरक्षित स्थानों पर ठहराया गया। एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, पुलिस को अलर्ट मोड पर रखा गया। बारिश के चलते यमुनोत्री धाम की यात्रा दोपहर 12 बजे तक ही चल पाई। इसके बाद करीब 4 हजार यात्रियों को जानकीचट्टी व अन्य पड़ावों पर ही रोक दिया गया था।



और भी पढ़ें :