कानपुर देहात हत्याकांड का खुलासा, पिता की हरकतों से परेशान बेटी ने मां व प्रेमी के साथ मिलकर पिता को उतारा था मौत के घाट

अवनीश कुमार| Last Updated: बुधवार, 23 मार्च 2022 (23:28 IST)
हमें फॉलो करें
कानपुर देहात। के डेरापुर के निवासी नरेश कुमार की बेटी ने पिता की हरकतों से तंग आकर अपनी मां व प्रेमी के साथ मिलकर अपने पिता को मौत के घाट उतार दिया था और पुलिस को गुमराह करने के लिए पिता की हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था।
पुलिस ने जब गहनता से पूरे मामले की जांच-पड़ताल की और मृतक की बेटी से पूछताछ की तो मामले का खुलासा हो गया। पुलिस ने तीनों ही आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है और आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में प्रयोग किए गए फावड़े को भी बरामद कर लिया है।

पिता की हरकतों से आ गई थी तंग : पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार डेरापुर निवासी नरेश कुमार की हत्या के खुलासे के लिए जांच में जुटी पुलिस को पूछताछ में पता चला कि मृतक की पुत्री का प्रेम प्रसंग पड़ोस के ही अमित उर्फ सिन्टू से चल रहा था।

मृतक नरेश कुमार ने एक दिन दोनों को आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया था। उसके बाद से ही मृतक नरेश कुमार अपनी पुत्री को ही ब्लैकमेल करने लगा था और किसी को न बताने के एवज में उसके साथ शारीरिक संबंध बनाता था और ऐसा वह रोज करने लगा था।

जब मृतक नरेश कुमार की पत्नी राखी आंगनवाड़ी मुबारकपुर चली जाती थी। तब मृतक नरेश शराब के नशे में रोज शारीरिक संबंध बनाता था।पिता की हरकत जब बेटी से बर्दाश्त नहीं हुई तो उसने खुद ही पूरा घटनाक्रम अपनी मां राखी को बता दिया।

बेटी की मां राखी ने अपने पति मृतक नरेश से इस बात का विरोध किया लेकिन उसने राखी की एक भी नहीं सुनी और लगातार दबाव बनाकर अपनी बेटी के साथ शारीरिक संबंध बनाता रहा।जिससे परेशान होकर बेटी व मां ने नरेश को खत्म करने की साजिश रच डाली।

जमकर पिलाई शराब :

मां राखी और बेटी ने नरेश को रास्ते से हटाने के लिए साजिश रची और 16 मार्च को नरेश को जमकर शराब पिलाई और वह जब नशे में होकर सो गया तो बेटी के प्रेमी अमित उर्फ सिन्टू को बुलाकर शराब के नशे में सो रहे नरेश कुमार पर फावड़े से ताबड़तोड़ वार कर दिए जिससे नरेश कुमार की मौके पर ही मौत हो गई।

क्या बोले एएसपी :

कानपुर देहात के एएसपी घनश्याम चौरसिया ने बताया कि तीनों ही आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है और वहीं अभियुक्त अमित कठेरिया उर्फ सिन्टू की निशादेही पर फावड़ा बरामद कर घटना का सफल अनावरण किया गया।



और भी पढ़ें :