केंद्रीय मंत्री का सहायक बन 50 लाख रुपए ठगे, भाजपा का टिकट दिलाने का दिया झांसा

पुनः संशोधित शुक्रवार, 16 जुलाई 2021 (22:20 IST)
चेन्नई। भाजपा के एक पदाधिकारी ने शिकायत दर्ज कराई है कि केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी का होने का दावा करने वाले एक व्यक्ति ने 6 अप्रैल को हुए विधानसभा चुनाव में पार्टी का टिकट का दिलाने का वादा कर उनसे की ठगी की। पुलिस ने इस बाबत प्राथमिकी दर्ज कर ली है।
शिकायतकर्ता भुवनेश कुमार पार्टी के अरानी नगर प्रमुख हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी की ओर से उम्मीदवारों का फैसला होने से पहले उन्होंने नरोथमन नाम के व्यक्ति को 50 लाख रुपए दिए थे। उन्होंने कहा कि नरोथमन ने दावा किया था कि वह रेड्डी का सहायक है और वह उन्हें चुनाव लड़ने के लिए पार्टी का टिकट दिलाएगा।

बहरहाल, उन्हें किसी भी विधानसभा सीट से पार्टी का टिकट नहीं मिला। रेड्डी तमिलनाडु विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा के प्रभारी थे। पुलिस के एक निरीक्षक ने कहा, हमने चार लोगों नरोथमन, उसके पिता चित्तिबाबू, विजयरमन और शिवा बालाजी के खिलाफ (धोखाधड़ी) का मामला दर्ज किया है।

उन्होंने कहा कि बताया जाता है कि नरोथमन और चित्तिबाबू हैदराबाद के निवासी हैं जबकि अन्य चेन्नई में रहते हैं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने प्राथमिकी दर्ज करने की पुष्टि की, लेकिन इस बारे में विस्तार से नहीं बताया कि नरोथमन, रेड्डी का सहायक था या वह वर्तमान में मंत्री के साथ जुड़ा है?
ALSO READ:

CMIE की रिपोर्ट, कोरोना में महिलाओं की तुलना में पुरुषों ने ज्‍यादा नौकरियां गंवाई
उन्होंने कहा, हमने प्राथमिकी दर्ज करने से पहले कानूनी राय मांगी थी। यह पूछे जाने पर कि क्या भुवनेश कुमार वास्तव में पार्टी के नेता हैं, भाजपा के राज्यस्तरीय एक पदाधिकारी ने पुष्टि की कि वह अरानी में पार्टी के पदाधिकारी हैं।
उन्होंने कहा, जब हमें पार्टी का टिकट पाने के लिए पैसे देने के इस दावे के बारे में पता चला तो हम हैरान और स्तब्ध थे।पदाधिकारी ने कहा, इस पार्टी में ऐसा कुछ नहीं हो सकता है। भुवनेश हाल ही में भाजपा में शामिल हुए थे। वह पहले किसी और पार्टी में थे।
शुरुआती कार्रवाई के तौर पर, हमने सिफारिश की है कि उन्हें उनके पार्टी पद से हटा दिया जाए।यह पूछे जाने पर कि क्या चुनाव के दौरान नरोथमन, रेड्डी का सहायक था, उन्होंने कहा, हमने यह नाम कभी नहीं सुना। हम नहीं जानते कि वह कौन है।(भाषा)



और भी पढ़ें :