पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद पर आश्रम की जमीनों की अफरा तफरी करने के प्रयास का आरोप

एन. पांडेय| Last Updated: मंगलवार, 7 दिसंबर 2021 (00:02 IST)
देहरादून। पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री एक बार फिर विवादों में घिरते नजर आ रहे हैं। हरिद्वार प्रेस क्लब में सोमवार को पावन धाम आश्रम की साध्वी तृप्ता ने स्वामी चिन्मयानंद पर हरिद्वार के आश्रम की संपत्ति खुर्दबुर्द करने और उसे बेचने की कोशिश करने का लगाया है।
ALSO READ:

‍निजीकरण के खिलाफ 2 दिन हड़ताल पर रहेंगे बैंक कर्मचारी

साध्वी तृप्ता सरस्वती एवं साध्वी सुखजीत सरस्वती ने अपने को पावन धाम आश्रम के ब्रह्मलीन स्वामी सहज प्रकाश महाराज की शिष्या बताया। दोनों ने कहा कि उनके गुरु ने उनके नाम गीता भवन और पावन धाम समेत अन्य आश्रमों की वसीयत की थी। इसको अब जहां स्वामी चिन्मयानन्द खुर्दबुर्द करना चाह रहे हैं, वहीं वे आश्रमों पर कब्जा करना चाहते हैं।
साध्वी तृप्ता सरस्वती ने कहा कि स्वामी चिन्मयानंद पहले से ही कई विवादों में फंसे हुए हैं। कुछ समय पूर्व इनका एक वीडियो वायरल हुआ, तब से इनका नाम 'मसाज बाबा' के रूप में विख्यात हो गया है। अब यह ट्रस्ट की संपत्ति को बेचने और इसे खुर्दबुर्द करने जा रहे हैं। हमने इनकी शिकायत उच्च अधिकारियों से की भी लेकिन ये लोग कोई बात सुनने को तैयार नहीं हैं।
दोनों साध्वियों का आरोप है कि स्वामी चिन्मयानंद प्रधानमंत्री और यूपी के मुख्यमंत्री को अपना करीबी बताकर धमकाते फिरते हैं। दोनों साध्वियों ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर हमारी बात नहीं सुनी जाती तो हम प्रदर्शन करेंगे और किसी भी सूरत में हम ये आश्रमों की संपत्तियां बिकने नहीं देंगे।



और भी पढ़ें :