सुप्रीम कोर्ट और एनजीटी की रोक के बाद भी राजधानी में खूब हुई आतिशबाजी, कई इलाकों में 'गंभीर' श्रेणी में पहुंचा AQI

Last Updated: रविवार, 15 नवंबर 2020 (09:15 IST)
नई दिल्ली। और एनजीटी के आदेश के बावजूद दिवाली के मौके पर हुई आतिशबाजी के बाद दिल्ली-NCR की आबोहवा ‘गंभीर’ स्थिति में पहुंच गई। दिल्ली में तड़के चार बजे दर्ज किए AQI में गंभीर स्थिति देखने को मिली।

दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (DPCC) के आंकड़ों के अनुसार PM 2.5 प्रदूषक के लिए वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) आनंद विहार में 481, आईजीआई एयरपोर्ट क्षेत्र में 444, आईटीओ में 461, और लोधी रोड इलाके में 414 दर्ज की गई जो सभी ‘गंभीर’ श्रेणी में है।

पराली जलने और शनिवार रात रोक के बावजूद हुई आतिशबाजी के चलते स्थिति खतरनाक हो गई है। आसमान में धुंध छाई हुई है। दृश्यता बेहद कम है। हवा में घुला जहर दिल और फेफड़ों की बीमारियों से जूझ रहे लोगों के लिए जानलेवा हो सकता है।
गाजियाबाद और नोएडा में भी हवा की गुणवत्ता ‘गंभीर’ स्थित में पहुंच गई है। ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) के गुड़गांव में यह ‘बहुत खराब’ की श्रेणी में रहा। प्रदूषण की स्थिति से निपटने के लिए उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने आधी रात में सदर बाजार इलाके में पानी का छिड़काव किया।



और भी पढ़ें :