हिमालयी पेड़ से खत्म होगा Corona, जानिए क्या है इसका नाम...

Last Updated: सोमवार, 17 जनवरी 2022 (22:46 IST)
वैज्ञानिकों ने पेड़ के फूलों की पंखुड़ियों में ऐसे फाइटोकेमिकल्स की पहचान की है, जो शरीर में कोरोनावायरस (Coronavirus) कोविड 19 के वायरस को रोकने में सक्षम होगा। हालां‍कि इसकी पंखुड़ियों का सेवन स्थानीय आबादी स्वास्थ्य संबंधी कई लाभों के लिए विभिन्न रूपों में करती है।
खबरों के अनुसार, आईआईटी मंडी के वैज्ञानिकों ने इंटरनेशनल सेंटर फॉर जेनेटिक इंजीनियरिंग एंड बायोटेक्नोलॉजी (आईसीजीईबी), नई दिल्ली के वैज्ञानिकों के साथ मिलकर बुरांश के रसायनों के अर्क का परीक्षण किया है। इस टीम ने हिमालयी बुरांश की पंखुड़ियों में इन रसायनों का पता लगाया है।

आईसीजीईबी के वैज्ञानिक डॉ. रंजन नंदा ने कहा, हमने इस बुरांश की पंखुड़ियों के रसायनों की जांच की है और इसे कोविड वायरस के खिलाफ काफी हद तक कारगर पाया गया है। बुरांश की पंखुड़ियों को गर्म पानी में रखने पर निकले इसके अर्क में क्विनिक एसिड और अन्य उत्पाद भरपूर पाए गए।

गौरतलब है कि इन फूलों को विभिन्न जिलों में आमतौर पर बुरांश, ब्रास, बुरस या बराह के फूल के नाम से जाना जाता है। इससे कई लोकल उत्पाद तैयार होते हैं, जिसमें स्क्वेश, जैम आदि शामिल हैं।



और भी पढ़ें :