संजय राठौड़ के मंत्री बनने पर बवाल, सीएम शिंदे ने दी सफाई

पुनः संशोधित मंगलवार, 9 अगस्त 2022 (15:30 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने शिवसेना विधायक संजय राठौड़ को मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने का मंगलवार को बचाव करते हुए कहा कि पुलिस ने एक महिला की मौत के मामले में उन्हें क्लीन चिट दे दी थी।पूर्ववर्ती उद्धव ठाकरे नीत MVA सरकार में शामिल रहे राठौड़ को एक महिला की मौत के मामले में उनका नाम आने के बाद इस्तीफा देना पड़ा था।
मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि एमवीए सरकार के दौरान उन्हें (राठौड़) क्लीन चिट दे दी गयी थी, इसलिए उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। पुलिस ने उन्हें क्लीन चिट दी थी। अगर किसी को इस पर और कुछ कहना है तो उसकी बात भी सुनी जा सकती है।

मंत्रिमंडल विस्तार करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में शिंदे ने यह भी कहा कि दूसरे दौर का मंत्रिमंडल विस्तार जल्द ही होगा। पहले मंत्रिमंडल विस्तार में राज्यपाल ने 18 मंत्रियों को पद और गोपनियता की शपथ दिलाई।

वह इस साल जून में शिवसेना नेतृत्व के खिलाफ बगावत करने वाले शिंदे गुट में शामिल हो गए। इस बगावत के कारण ठाकरे नीत सरकार गिर गई थी। शिंदे ने 30 जून को मुख्यमंत्री और देवेंद्र फडणवीस ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।
शिंदे ने उन दावों को भी खारिज किया कि संजय शिरसाट समेत कुछ बागी विधायक मंत्रिमंडल में शामिल न किए जाने से नाराज हैं।
मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि एमवीए सरकार के दौरान उन्हें (राठौड़) क्लीन चिट दे दी गयी थी, इसलिए उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। पुलिस ने उन्हें क्लीन चिट दी थी। अगर किसी को इस पर और कुछ कहना है तो उसकी बात भी सुनी जा सकती है।



और भी पढ़ें :