जन्माष्टमी पर योगी बोले, हे बांके बिहारी! Corona रूपी राक्षस का अंत करें...

हिमा अग्रवाल| Last Updated: सोमवार, 30 अगस्त 2021 (23:20 IST)
हमें फॉलो करें
मथुरा। कृष्ण नगरी में धूमधाम से मनाया जा रहा है। मथुरा-वृंदावन रंगबिरंगी रोशनी में नहाए हुए हैं। मंदिरों में रासलीला व तरह-तरह के आयोजन व झांकियों को सजाया गया है। भगवान श्रीकृष्ण के 3 दिवसीय जन्म महोत्सव कार्यक्रम में भाग लेने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री गोरक्ष पीठाधीश्वर श्रीकृष्ण जन्मभूमि ट्रस्ट की तरफ से धर्मरक्षा-राष्ट्ररक्षा का संकल्प लेने पहुंचे।
मथुरा के रामलीला मैदान में आयोजित कृष्णोत्सव कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी ने संबोधन से पहले भारत माता को नमन करते हुए जय बोली। वहीं मथुरावासियों का दिल जीतने के लिए बोले कि वे इस अवसर का विगत तीन वर्षों से इंतजार कर रहे थे। आज योगमाया के प्रकटीकरण का दिवस भी है। योगी भगवान श्रीकृष्ण की जन्मभूमि पर पहली बार बतौर मुख्यमंत्री के रूप में जन्माष्टमी कार्यक्रम में शिरकत कर रहे हैं।

कृष्ण जन्मभूमि पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि मैं वृंदावन बिहारी से प्रार्थना करने आया हूं कि जिस तरह आपने राक्षसों का अंत किया था, वैसे ही कोरोना रूपी राक्षस का भी अंत करने की कृपा करें। उन्होंने कहा कि धरती पर पर धर्म की स्थापना के लिए कृष्ण का जन्म हुआ था।

वर्ष 2019 में आगरा तक आया था, तब मैं कृष्ण नगरी आना चाहता था, लेकिन केंद्रीय मंत्री के निधन के कारण मथुरा नहीं आ सका। भगवान की कृपा से 2021 में नियंत्रण में आया है, लेकिन अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है, इसलिए अभी ज्यादा सावधानी की आवश्यकता है। आपकी सतर्कता के चलते महामारी बाल भी बांका नहीं कर सकती है।

अब बिहारी लाल से यही कामना करता हूं कि कोरोना का जल्दी अंत करें। सरकारी उपाय महामारी के दौरान कम पड़ जाते हैं, जिसके चलते इस कोरोना महामारी में भी अनेक परिवारों ने अपने प्रियजनों को खोया है। ऐसे पीड़ित परिवारों के साथ हमारी संवेदना है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ब्रज भूमि को 5000 वर्ष पूर्व का स्वरूप देने की कोशिश की जा रही है और सभी जनप्रतिनिधि प्रयास कर रहे हैं। इसलिए ब्रज क्षेत्र के विकास के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।

उन्होंने कहा कि पहले किसी उत्सव पर्व पर बधाई देने के लिए मुख्यमंत्री, मंत्री और विधायक नहीं आते थे, लेकिन भाजपा आपकी सहगामी है, लेकिन अन्य दल हिन्दू पर्व और त्योहारों में साथ सहभागी नहीं बनते थे, बल्कि अलग से पाबंदियां लगती थीं।

सांस्कृतिक विरासत ही हमारी पहचान है। अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर की नींव रखी जा चुकी है, मंदिर बनना शुरू हो गया है। वहीं आजादी के बाद पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद हैं, जो अयोध्या दर्शन करने के लिए यहां पहुंचे थे। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में अयोध्या नया अयोध्या बन रहा है। योगी ने कहा कि जो लोग पहले मंदिर जाने में संकोच करते थे, अब वही कहते हैं कि राम हमारे भी हैं, कृष्ण हमारे भी आराध्य हैं।

मुख्‍यमंत्री योगी के भाषण से पहले ब्रज तीर्थ विकास परिषद की ओर से किए गए विकास कार्यों की डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई। इसके जरिए मथुरा क्षेत्र की उपलब्धियों के बारे में बताया गया। अभिनेत्री और मथुरा की सांसद हेमा मालिनी के विकास कार्य को भी जनता के सामने रखा गया।



और भी पढ़ें :