ब्रजधाम में मुख्यमंत्री योगी ने किया 'हुनर हाट' का उद्घाटन

हिमा अग्रवाल| Last Updated: बुधवार, 10 नवंबर 2021 (21:04 IST)
हमें फॉलो करें
बरसाती मौसम में जिस तरह मेंढक टर्र-टर्र करते हुए घूमने लगते हैं, वैसे ही चुनावी मौसम शुरू होते ही राजनेता शहर दर शहर जाते नजर आते हैं। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव नजदीक हैं, ऐसे में सभी दलों के नेताओं ने चुनावी समर के लिए कमर कस ली है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, अखिलेश यादव, जयंत चौधरी, शिवपाल यादव, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत तमाम नेताओं का वोटरों को लुभाने के लिए यूपी भ्रमण जारी है।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी योजनाओं का शिलान्यास, पलायन पीड़ितों से मिलन, मेट्रो निरीक्षण, खिलाड़ियों का सम्मान, राम नगरी, कृष्ण नगरी में जाकर चुनाव से पहले जनता को लुभाने का प्रत्यन कर रहे हैं। इसी कड़ी में आज वे कानपुर और मथुरा-पहुंचे। कृष्ण नगरी में उन्होंने ब्रज रज महोत्सव में का उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री योगी ने अपने संबोधन की शुरुआत राधे-रानी, यमुना महारानी और सब संतन की जय के साथ की।

वृंदावन में हुनर हाट का उद्घाटन करने से पहले योगी ने साधु-संतों का सत्कार करते हुए उनके साथ बैठकर पत्तलों पर भोजन किया। सीएम को भोज में खीर, पूड़ी, हलवा परोसा गया। ब्रज रज उत्सव मंच पर सीएम योगी ने अपने संबोधन में कहा कि मैं ब्रज की पावन धरा को कोटि-कोटि नमन करता हूं। ब्रज का एक-एक रज सबके लिए पावन है, क्योंकि यहां संतों के सान्निध्य में बिहारी, राधा रानी और यमुना जी की कृपा सदैव बनी रहती है।


योगी ने जनता के दिल में जगह बनाने के लिए कहा कि 2021 की शुरुआत में वैष्णव कुंभ की शुरुआत से पहले ब्रज की पावन धरती पर आने का अवसर मिला। साधु-संतों का आशीर्वाद होने के कारण ही कुंभ का सफल आयोजन संभव हुआ है। वैष्णव कुंभ के दौरान कोरोनावायरस महामारी बड़ी चुनौती थी, इस बीच वैष्णव कुंभ सफल नहीं हो पाता, लेकिन बिहारी जी, राधा रानी, यमुना जी की असीम कृपा से कुंभ का कुशलता के साथ भव्य आयोजन संपन्‍न हो पाया। आज एक बार फिर बांके बिहारी के धाम आने का सौभाग्य मुझे मिला है।

सीएम योगी ने कहा कि अपने देश के हुनर को निखारने के लिए भारत सरकार की तरफ से हुनर हाट लगाया जा रहा है। वृंदावन में ‘ब्रज रज उत्सव' एवं कौशल कुबेरों के कुंभ' 'हुनर हाट' के उद्घाटन अवसर पर योगी बोले कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार करने के लिए यहां कारीगर और हस्तशिल्पी आए हुए हैं। यहां आए बहुत से कारीगर ऐसे होंगे, जिनकी कला समय विशेष और श्रीकृष्ण लीला कालखंड से अवश्य जुड़ती होगी।

भले ही समय परिवर्तन के साथ श्रीकृष्ण युग से जुड़ी पूजा पद्धति बदल गई हो, लेकिन एक बात तय है कि उस युग की कला आज भी कलाकारों के पास संजोई हुई है। केंद्र और प्रदेश सरकार ब्रज के विकास के लिए पूर्णतः कटिबद्ध है, विकास को ध्यान में रखते हुए यूपी सरकार ने 425 करोड़ की योजनाओं को अमलीजामा पहनाया है और आगे भी ब्रज का विकास ऐसे ही होता रहेगा।

वृन्दावन में हस्तकला को बढ़ावा देने के लिए आयोजित हुनर हाट में 30 से ज्यादा राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के करीब 400 लोग शामिल हुए, जिसमें कारीगर, शिल्पकार, हस्तकार और दस्तकार शामिल हैं। ये हस्तकला के हुनरमंद अपने साथ लकड़ी, ब्रास, शीशे, बांस, कागज, कपड़े, मिट्टी, सूत और लाख से बने सामान अपने साथ लाए हैं। इसके अतिरिक्त यहां अन्य राज्यों के पारंपरिक और स्वादिष्ट पकवान भी हाट में मौजूद हैं।

ब्रज रज उत्सव के दौरान मुख्यमंत्री योगी ने मथुरा सांसद हेमा मालिनी का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने एक महीने पहले हुनर हाट को लेकर सरकार से बातचीत की और मेले को स्वरूप दिया। हेमा मालिनी हमेशा अपने संसदीय ब्रज क्षेत्र के विकास के लिए प्रत्यनशील हैं और यमुना मैया की अविरल निर्मल धारा सदा गतिमान रहे, उसकी चिंता करती हैं।



और भी पढ़ें :