Bihar News : महागठबंधन सरकार में नीतीश, तेजस्वी सहित 72 फीसदी मंत्री दागी, ADR की रिपोर्ट में खुलासा

Last Updated: बुधवार, 17 अगस्त 2022 (23:25 IST)
हमें फॉलो करें
पटना। news update : में नए मंत्रिमंडल में शामिल 72 प्रतिशत मंत्रियों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं। मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के खिलाफ भी मामले दर्ज हैं।
बिहार के 33 में 23 मंत्री अलग-अलग मामलों के आरोपी है। इसमें बड़ी बात यह है कि इन 23 में 17 मंत्री ऐसे हैं, जिन पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज है।

बिहार में महागठबंधन सरकार के मंत्रिमंडल गठन के एक दिन ही बाद (ADR) ने बिहार के नए मंत्रियों के अपराधों का चिट्ठा खोल दिया। बिहार मंत्री परिषद के विस्तार के बाद एडीआर और ‘बिहार इलेक्शन वॉच’ ने मुख्यमंत्री समेत 33 में से 32 मंत्रियों द्वारा 2020 विधानसभा चुनाव के दौरान दाखिल हलफनामे का विश्लेषण किया है।
भाजपा का साथ छोड़कर राजद के साथ मिलकर सरकार बनाने वाले मुख्यमंत्री कुमार ने मंगलवार को 31 मंत्रियों को शामिल करते हुए मंत्रिमंडल का विस्तार किया था। एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक, जनता दल (यूनाइटेड) के नेता एवं कैबिनेट मंत्री अशोक चौधरी को अपना हलफनामा जमा करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि वे विधान परिषद के मनोनीत सदस्य हैं, इसलिए आपराधिक, वित्तीय और अन्य विवरणों संबंधी उनकी जानकारी सार्वजनिक तौर पर उपलब्ध नहीं है।

84 प्रतिशत करोड़पति : रिपोर्ट के अनुसार 23 मंत्रियों (72 फीसदी) ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं जबकि 17 मंत्रियों (53 फीसदी) ने अपने खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। वहीं, 32 मंत्रियों में से 27 (84 फीसदी) करोड़पति हैं। सर्वाधिक संपत्ति वाले मंत्री समीर कुमार महासेठ हैं जो मधुबनी सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं। समीर की संपत्ति 24.45 करोड़ रुपये की है। वहीं, सबसे कम संपत्ति वाले मंत्री मुरारी प्रसाद गौतम हैं, जिनकी संपत्ति 17.66 लाख रुपये की है। एडीआर के मुताबिक 8 मंत्रियों (25 प्रतिशत) ने अपनी शैक्षणिक योग्यता 8वीं से 12वीं कक्षा के बीच जबकि 24 मंत्रियों (75 प्रतिशत) ने स्नातक या उससे ऊपर की शैक्षणिक योग्यता घोषित की है।
डिप्टी सीएम पर मामले : डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव पर 11 केस दर्ज हैं। ये केस पटना के कोतवाली, सचिवालय, पूर्णिया, हाजीपुर, दिल्ली में CBI ने दर्ज किया है। तेजस्वी पर धारा 302, 420 जैसे सेक्शन लगाए गए हैं। धारा 302 मर्डर केस के रूप में चलाया जाता है। ठगी और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले भी है। तेजस्वी यादव पर पूर्णिया में मर्डर करने का केस चल रहा है। लालू प्रसाद यादव के बड़े पुत्र और वन एवं पर्यावरण मंत्री तेज प्रताप यादव पर भी 5 केस दर्ज हैं।

राजद खेमे से मंत्री बने सुरेंद्र राम पर मजमा लगाने, सरकारी काम में बाधा डालने और मारपीट के साथ चोरी करने का भी केस दर्ज है। बिहार के नए बने शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर पर पटना के सचिवालय थाना में, सुपौल के किशनपुर थाना में साथ ही दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पर केस दर्ज है। शिक्षा मंत्री बने चंद्रशेखर के बैग से दिल्ली एयरपोर्ट पर लाइसेंसी राइफल की गोली बरामद हुई थी। (इनपुट भाषा)



और भी पढ़ें :