बागपत : स्कूल परिसर में 6 साल के छात्र को मिनी बस ने कुचला, परिजनों का हंगामा, स्कूल हुआ सीज

हिमा अग्रवाल| पुनः संशोधित गुरुवार, 5 मई 2022 (16:17 IST)
हमें फॉलो करें
बागपत से गुरुवार की सुबह एक दर्दनाक खबर सामने आई है, यहां पर स्कूल कैंपस के अंदर 6 वर्ष के छात्र आयुष की बस की चपेट में आकर हो गई। आयुष सुबह 8.30 को स्कूल के मैदान में था, तभी छात्रों को स्कूल लाने वाली ने तेज रफ्तार के साथ मैदान में बैक किया, बस की चपेट में मासूम छात्र आ गया और उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस-प्रशासन और के आलाधिकारी स्कूल पहुंच गए। स्कूल को सील कर दिया गया है।
अभी लगभग एक माह पहले गाजियाबाद बस हादसे में 4 क्लास में पढ़ने वाले अनुराग नेहरा की दर्दनाक मौत हुई थी, जिसको लेकर योगी सरकार ने नाराजगी जताई और यूपी के सभी स्कूलों में बसों के संचालन और फिटनेस की जांच के आदेश दिए।

उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में प्रशासन और आरटीओ बसों और छात्रों को लाने वाले वाहनों की फिटनेस और मानकों की जांच कर रह है। लेकिन इसी बीच आज एक कान्वेंट स्कूल के ड्राइवर ने विद्यालय परिसर के अंदर ही तेज रफ्तार से मिनी बस दौड़ाई, जिसकी चपेट में कक्षा एक का छात्र आयुष आ गया और मौके पर ही मौत हो गई।

यह हादसा बागपत के चांदी नगर क्षेत्र में स्थित रॉयल कॉन्‍वेंट इंटर कॉलेज का है। यहां पर चामरावल के रहने वाले अरुण का 6 वर्षीय बेटा आयुष क्लास वन में पढ़ता था। प्रतिदिन की तरह आज सुबह आयुष के परिजन उसको स्कूल छोड़कर घर आ गए।

घर आने के लगभग 20 मिनट बाद उन्हें सूचना मिली कि आयुष स्कूल बस की चपेट में आ गया है, वह आनन-फानन में स्कूल पहुंचे तो उनके होश उड़ गए। मासूम आयुष खून से लथपथ मैदान में पड़ा हुआ था और उसकी सांसें थम चुकी थीं।

आयुष गुरुवार की सुबह विद्यालय परिसर के अंदर अपनी मस्ती में सहपाठियों की तरफ बढ़ रहा था, उसको जरा भी आभास नहीं हुआ कि पीछे से मौत आ रही है। मिनी बस का ड्राइवर गाड़ी को बैक कर हुए नियत्रंण खो बैठा और उसका एक टायर छात्र आयुष पर चढ़ गया।

बस के नियत्रंण खोने की भी प्रथमदृष्टया वजह बस की रफ्तार का तेज होना सामने आ रहा है, जिसकी वजह से यह हादसा हुआ है। सूचना मिलते ही आयुष के घर में कोहराम मच गया, ग्रामीण और परिजन स्कूल दौड़ पड़े। स्कूल में ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया, वहीं परिजनों ने डीएम और एसपी को मौके पर बुलाने को लेकर हंगामा बरपा दिया।

बागपत के एडीशनल एसपी और डीएम राजकमल यादव रॉयल स्कूल पहुंचे और पीड़ित परिवार को सांत्वना दी। पुलिस ने आयुष के परिवार की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया है, वहीं डीएम ने स्कूल की भूमिका पर जांच के आदेश दे दिए हैं, डीएम का कहना है कि बस को सीज कर दिया गया है, यदि स्कूल प्रबंधन की लापरवाही सामने आती है तो उनके खिलाफ भी एक्शन होगा। बागपत में वैसे पहले से ही स्कूल बसों की जांच चल रही है।

रॉयल कॉन्‍वेंट इंटर कॉलेज के खिलाफ शिक्षा विभाग ने भी सख्त एक्शन लेते हुए कॉलेज को सील कर दिया है। बागपत के बीएसए राघवेंद्र सिंह ने मीडिया को बताया है कि एक साल पहले स्कूल को मान्यता दी गई थी, सिर्फ कक्षा छह से बारह तक की क्लास चलाने की अनुमति प्रदान की गई।

लेकिन विद्यालय प्रबंधन बिना अनुमति के क्लास वन से 5 क्लास तक की शिक्षा दे रहा था, जो मानकों के अनुरूप नहीं है, बसों के संचालन की भी शिक्षा विभाग को जानकारी नही है। फिलहाल स्कूल को मानकों के अनुरूप न पाकर सीज कर दिया गया है।



और भी पढ़ें :