वह स्थान जहां पर श्रीराम ने किया था वानर सेना का गठन

रामायण में उल्लेखित और अनेक अनुसंधानकर्ताओं के अनुसार जब भगवान राम को वनवास हुआ तब उन्होंने अपनी यात्रा अयोध्या से प्रारंभ करते हुए और उसके बाद श्रीलंका में समाप्त की। इस दौरान उनके साथ जहां भी जो घटा उनमें से 200 से अधिक घटना स्थलों की पहचान की गई है। उन्हीं में से एक है जहां पर ने किया था वानर सेना का गठन।

कोडीकरई :
1. हनुमान और सुग्रीव से मिलने के बाद श्रीराम ने पर वानर सेना को एकत्रित किया और लंका की ओर चल पड़े। आगे चलकर वे एक जगह रुके जिससे कोडीकरई कहते हैं यहां पर उन्होंने नए सिरे से वानर सेना का गठन किया और सभी को अलग अलग कार्य सौंपे।
2. तमिलनाडु की एक लंबी तटरेखा है, जो लगभग 1,000 किमी तक विस्‍तारित है। कोडीकरई समुद्र तट वेलांकनी के दक्षिण में स्थित है, जो पूर्व में बंगाल की खाड़ी और दक्षिण में पाल्‍क स्‍ट्रेट से घिरा हुआ है।

3. कोडीकरई में श्रीराम की सेना ने पड़ाव डाला और श्रीराम ने अपनी सेना को कोडीकरई में एकत्रित कर विचार विमर्ष किया।

4. श्री राम की सेना ने उस स्थान के सर्वेक्षण के बाद जाना कि यहां से समुद्र को पार नहीं किया जा सकता और यह स्थान पुल बनाने के लिए उचित भी नहीं है, तब श्रीराम की सेना ने रामेश्वरम की ओर कूच किया।



और भी पढ़ें :