राजस्थान में क्रॉस वोटिंग, विवाद के बाद भाजपा विधायक शोभारानी का वोट खारिज

Last Updated: शुक्रवार, 10 जून 2022 (13:12 IST)
हमें फॉलो करें
जयपुर। विधानसभा में चल रहे के के दौरान उस समय हंगामा हो गया जब शोभारानी ने करते हुए कांग्रेस को वोट दे दिया। मामले पर बवाल मच गया और शोभारानी का वोट खारिज कर दिया गया। धौलपुर से विधायक शोभारानी को वसुंधरा राजे का करीबी माना जाता है। दावा किया जा रहा है कि सिद्धी कुमारी और कैलाश मीणा का वोट भी कांग्रेस को गया है।

राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस के तीन उम्मीदवार रणदीप सुरजेवाला, मुकुल वासनिक एवं प्रमोद तिवारी चुनाव मैदान में हैं जबकि भाजपा के घनश्याम तिवाड़ी उम्मीदवार हैं। सांसद सुभाष चन्द्रा निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं और उन्हें भाजपा का समर्थन प्राप्त है।

विधानसभा में विधायकों की संख्या बल के आधार पर दो कांग्रेस एवं एक भाजपा के उम्मीदवार की जीत पक्की मानी जा रही है और चौथी सीट के लिए मुकाबला है। कांग्रेस के नेता उसके समर्थित निर्दलीय, कुछ क्षेत्रीय दलों के विधायकों सहित 126 विधायकों का समर्थन बताते हुए तीनों उम्मीदवारों के जीतने का दावा कर रहे हैं।
राजस्थान में राज्यसभा की चार सीटों पर आज सुबह नौ बजे शुरू हुआ मतदान जारी है। मतदान शुरू होते ही पहला मत मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने डाला है। इसके बाद बसपा से कांग्रेस में आए 6 विधायकों ने वोट डाला।


कांग्रेस विधायकों की पहली बस विधानसभा पहुंची जिसमें 40 से अधिक विधायक वोट डालने पहुंचे। इसके बाद भाजपा विधायकों की पहली बस पहुंची और विधायकों ने अपना मतदान किया।
इसी तरह कांग्रेस एवं उसके समर्थित विधायक तीन बसों में आए जबकि भाजपा के विधायक दो बसों में भरकर मतदान करने पहुंचे। भाजपा के डॉ सतीश पूनियां, गुलाबचंद कटारिया, राजेंद्र सिंह राठौड़ सहित कई विधायक अपना वोट डाल चुके हैं। यहां शाम बजे तक वोट डाले जाएंगे और मतगणना 5 बजे शुरू होगी।



और भी पढ़ें :