0

17 मई, मंगलवार को है नारद जयंती, जानिए महत्व, मंत्र और मुहूर्त

सोमवार,मई 16, 2022
0
1
Chandra Grahan 2022: 16 मई 2022 सोमवार को वैशाख पूर्णिमा के दिन बुद्ध जयंती के साथ ही साल का पहला चंद्रग्रहण है। आओ जानते हैं कि क्या है इस दिन की 10 खास बातें।
1
2
kurma jayanti 2022: प्रतिवर्ष वैशाख मास की पूर्णिमा को कूर्म जयंती, बुद्ध जयंती, गोरखनाथ जयंती और महर्षि भृगु की जयंती मनाई जाती है। इस बार अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 15 मई रविवार के दिन कूर्म जयंती मनाई जाएगी। कूर्म का अर्थ होता है कछुआ। श्रीहरि ...
2
3
Shri Narsingh Jayanti 2022: 14 मई 2022 को वैशाख शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी यानी चौदस को भगवान नृसिंह की जयंती मनाई जा रही है। इस दिन श्रीहरि विष्णुजी के आवेश अवतार नृसिंहदेव को प्रसन्न करने के लिए और उनकी कृपा प्राप्त करने के लिए 7 ठंडी और रसीली चीजों ...
3
4
वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी चतुर्दशी को भगवान नृसिंह देव का प्रकटोत्सव मनाया जाता है। इस दिन व्रत रखकर उनकी पूजा करने से सभी तरह के संकट समाप्त हो जाते हैं और व्यक्ति सभी तरह के सुख पाता है। आओ जानते हैं श्री हरि विष्णु के इस अवतार की 10 ...
4
4
5
नृसिंह जयंती विशेष: श्री नृसिंह चालीसा, श्री नृसिंह भगवान की आरती, मंत्र, नृसिंह कवच, पौराणिक कथा एक साथ
5
6
Narasimha Jayanti 2022: हिन्दू कैलेंडर के अनुसार प्रतिवर्ष वैशाख महीने के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को नृसिंह जयंती मनाई जाती है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस वर्ष 14 मई 2022 शनिवार को मनाई जाएगी।
6
7
प्रतिवर्ष वैशाख महीने (Vaishakh month 2022) के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को नृसिंह जयंती (Narasimha Jayanti) व्रत किया जाता है। इस वर्ष यह पर्व शनिवार, 14 मई 2022 को मनाया जा रहा है।
7
8
Parshuram Dwadashi: आज 13 मई को परशुराम द्वादशी का व्रत रखा जाएगा। हिन्दू पंचांग के अनुसार, प्रति वर्ष परशुराम द्वादशी व्रत वैशाख मास में शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि को रखा जाता है। संतान की कामना हेतु इस व्रत को रखा जाता है।
8
8
9
हिरण्यकश्यप ने प्रभु भक्तों पर अत्याचार करना शुरू कर दिया, लेकिन भक्त प्रहलाद के जन्म के बाद हिरण्यकश्यप उसकी भक्ति से भयभीत हो जाता है, उसे मृत्युलोक पहुंचाने के लिए प्रयास करता है।
9
10
यह है नृसिंह जयंती का खास मंत्र, इसे जपने से हर प्रकार की शुभ शक्तियां व्यक्ति की रक्षा के लिए सक्रिय होती हैं और अशुभ शक्तियां अपना असर नहीं दिखा पाती... जरूर पढ़ें विशेष रक्षा मंत्र...
10
11
वर्ष 2021 में 25 मई 2021 का दिन बहुत खास है। इस दिन भगवान विष्णु ने भक्त प्रह्लाद को बचाने के लिए भगवान नृसिंह का सिंहावतार लिया था।
11
12
Vaishakha purnima 2022: वैशाख पूर्णिमा के दिन गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था इसीलिए इसे बुद्ध पूर्णिमा भी कहते हैं। वैशाख पूर्णिमा के दिन आप इन 10 में से करें ओई एक कार्य तो मिलेगा लाभ, चंद्रदेव होंगे प्रसन्न। बुद्ध भगवान विष्णु के नौवें अवतार माने जाते ...
12
13
वैशाख माह चल रहा है 16 मई 2022 को वैशाख पूर्णिमा के दिन यह माह समाप्त हो जाएगा। इस माह में दान-पुण्य करने का बहुत महत्व है। भविष्य पुराण, आदित्य पुराण में वैशाखी पूर्णिमा को अत्यंत पवित्र एवं फलदायी माना गया है। यदि पूरे माह कुछ नहीं कर पाएं हैं तो ...
13
14
इस वर्ष 15 मई, दिन रविवार को कूर्म जयंती (kurma jayanti 2022) मनाई जा रही है। हिन्दू धर्म ग्रंथों के अनुसार भगवान विष्णु ने कूर्म (कछुए) का अवतार लेकर समुद्र मंथन में सहायता की थी। भगवान विष्णु के कूर्म अवतार को कच्छप अवतार भी कहते हैं।
14
15
Janaki Jayanti 2022 : 10 मई 2022 मंगलवार को आज जानकी जयंती है, जिसे सीता नवमी भी कहते हैं। इस दिन माता सीता प्रकट हुई थी। आओ जानते हैं कि कैसे प्रकट हुई थी माता सीता और इस दिन करते हैं 16 तरह के दान, तो मिलता है पुण्य और वरदान।
15
16
वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि के दिन यानी आज 10 मई 2022 को जानकी जयंती या सीता नवमी पर्व (Sita Navmi, Janaki Jayanti 2022) मनाया जा रहा है।
16
17
Sita Navami Vrat vidhi 2022 वैशाख शुक्ल पक्ष की नवमी को माता सीता का जन्मोत्सव मनाया जाता है। इसे सीता नवमी कहते हैं। माता सीता को धरती माता की पुत्री माना जता है और इनके भाई का नाम मंगल है। राजा जनक ने इनका पालन पोषण किया था। इस बार सीता नवमी का ...
17
18
पूरम फेस्टिवल करेला के त्रिशूर शहर के वडक्कुनाथन मंदिर में प्रतिवर्ष बड़ी धूम-धाम से मनाया जाने वाला त्योहार है। इसका इतिहास 200 वर्ष पुराना है और इसे भारत के सबसे पुराने टेम्पल फेस्टिवल्स में से एक माना जाता है। इस वर्ष भी ये फेस्टिवल 10 मई से ...
18
19
janaki jayanti 2022 : वैशाख शुक्ल की नवमी को सीता नवमी का पर्व मनाया जाता है। माता सीता को जानकी भी कहते हैं। इस बार 10 मई 2022 को जानकी जयंती मनाई जाएगी। आओ जानते हैं माता सीता के दिव्य आभूषण और वस्त्र के बारे में।
19
20
Maa Baglamukhi Devi jayanti 2022: वैशाख शुक्ल अष्‍टमी को मां बगलामुखी की जयंती मनाई जा रही है। मां बगलामुखी के तीन ही शक्तिपीठ प्रमुख है- दतिया (मध्यप्रदेश), कांगड़ा (हिमाचल) तथा नलखेड़ा जिला शाजापुर (मध्यप्रदेश) में हैं। दतिया में पीतांबरा पीठ है। ...
20
21
Baglamukhi Jayanti 2022 : 10 महाविद्याओं में से एक सातवीं उग्र शक्ति मां धूमावती का प्रकटोत्सव ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की अष्टमी को मनाते हैं जबकि हर साल वैशाख माह में शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को बगलामुखी जयंती मनाई जाती है। अंग्रेजी माह के ...
21
22
मई माह 2022 (May month mahina fast festival 2022) के व्रत त्योहार : मई माह के व्रत, तिथि, तीज त्योहार, खास मुहूर्त और दिवसों आदि के बारे में जानिए। साथ ही जानिए कि इस माह में विवाह, मुंडन, गृह प्रवेश, उपनयन, नामकरण आदि के क्या है शुभ मुहूर्त।
22
23
Purnima ko pipal ki puja :16 मई 2022 सोमवार को वैशाख पूर्णिमा को पीपल पूर्णिमा भी कहते हैं। इसी दिन गौतम बुध का जन्म हुआ था। इस दिन पीपल के वृक्ष की पूजा करने का खासा महत्व बताया गया है। आओ जानते हैं पीपल के वृक्ष की पूजा करने के 10 फायदे।
23
24
Vaishakh Purnima 2022: वैशाख माह की पूर्णिमा को पीपल पूर्णिमा भी कहते हैं। इस दिन पुराणों में पीपल की पूजा का महत्व बताया गया है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार 16 मई 2022 सोमवार को पीपल पूर्णिमा का व्रत रखा जाएगा। हिंदू धार्मिक ग्रंथों में पीपल ...
24
25
वर्ष 2022 में 9 मई, दिन सोमवार को मां बगलामुखी जयंती मनाई जा रही है। यहां पढ़ें पौराणिक और प्रामाणिक कथा एवं माहात्म्य-
25
26
Ganga Saptami 2022 : गंगा सप्तसती का महत्व : वैशाख शुक्ल सप्तमी के दिन माता गंगा की जयंती मनाई जाती है। इस बार यह जन्मोत्सव 7 मई 2022 शनिवार को मनाया जा रहा है। आओ जानते हैं दान देने, खरीदी करने का महत्व और मुहूर्त।
26
27
Ganga Saptami 2022 : प्रतिवर्ष वैशाख महीने के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को गंगा सप्तमी मनाई जाती है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार 7 मई 2022 शनिवार को मनाई जा रही है। आओ जानते हैं गंगा सप्तसती का महत्व और गंगाजल की 10 विशेषता।
27
28
Ganga Saptami 2022 अनेक धर्मग्रंथों में गंगा नदी के महत्व का वर्णन देखने को मिलता है। यह नदी हिन्दुओं की आस्था का केंद्र है। वैशाख शुक्ल सप्तमी के दिन मां गंगा (ganga nadi) स्वर्गलोक से भगवान शिव की जटाओं में पहुंची थी, इसलिए इस दिन को गंगा सप्तमी ...
28
29
Ganga Saptami Janhvi Katha धार्मिक शास्त्रों के अनुसार गंगा सप्‍तमी के विषय में एक प्रचलित कथा है। इसके अनुसार एक बार गंगा जी तीव्र गति से बह रही थी। Ganga Saptami Story
29
30
प्रतिवर्ष वैशाख महीने के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को गंगा सप्तमी (Ganga Saptami 2022) मनाई जाती है। यहां पढ़ें मां गंगा की स्तुति, पावन चालीसा, गंगा मैया की आरती और पौराणिक तथ्य...
30
31
Ganga Saptami 2022 Date : वर्ष 2022 में श्री गंगा सप्तमी पर्व (Ganga Saptami 2022 Date) रविवार, 8 मई 2022 को मनाया जा रहा है। हिंदू धर्मशास्त्रों के अनुसार वैशाख शुक्ल सप्तमी तिथि को मां गंगा स्वर्ग लोक से शिवशंकर की जटाओं में पहुंची थी।
31
32
16 मई 2022 को वैशाख पूर्णिमा रहेगी। इसी दिन बुद्ध पूर्णिमा रहेगी यानी गौतम बुद्ध की जयंती भी है। इसी दिन भृगु जयंती भी मनाई जाएगी। इस पूर्णिमा को पीपल पूर्णिमा भी कहते हैं। आओ जानते हैं प्रमुख 10 दानों का महत्व।
32