3 सितंबर : आज भी है अजा एकादशी, जानिए कब लगेगी बछ बारस, जानिए मुहूर्त

Bach Baras
आज भाद्रपद कृष्ण पक्ष की जया/ अजा एकादशी और यह बछ बारस का पर्व मनाया जा रहा है। इस दिन जहां भगवान विष्णु का पूजन होगा वहीं बछ बारस का पर्व भी मनाया जाता है। धार्मिक मान्यता के अनुसार इस दिन गाय-बछड़े का पूजन करने से सभी देवताओं का आशीर्वाद मिलता है। इस अवसर पर गाय और बछड़े की पूजा की जाती है। इस दिन माताएं पुत्र की दीर्घायु के लिए व्रत रखती हैं। भाद्रपद में पड़ने वाले इस पर्व ‘गोवत्स द्वादशी’ नाम से भी जाना जाता हैं।

इस वर्ष यह पर्व शुक्रवार, 3 सितंबर को मनाया जा रहा है तथा पंचाग मतभेद के चलते यह पर्व शनिवार, 4 सितंबर को भी मनाया जाएगा।

आज अजा एकादशी की तिथि सुबह 07.44 मिनट समाप्त हो गई तथा एकादशी पारणा का समय शनिवार, को सुबह 05.30 मिनट से सुबह 08.23 मिनट तक रहेगा। उसके बाद द्वादशी तिथि शुरू हो जाएगी। गोवत्स द्वादशी की पूजा आज ही की जाएगी। ज्योतिषियों की मानें बछ बारस या गोवत्स द्वादशी का पूरा दिन ही पूजन के लिए शुभ माना जाता है। इस दिन अगर पुत्रवती माताएं पूरे विधि-विधान से गाय और बछड़े का पूजन करके उन्हें हरा चारा आदि खिलाती हैं, तो मां की कृपा प्राप्त होती है।





और भी पढ़ें :