योगी दूसरी बार बने यूपी के CM, मौर्य और पाठक ने ली डिप्टी CM पद की शपथ

Last Updated: शुक्रवार, 25 मार्च 2022 (19:50 IST)
हमें फॉलो करें
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में ने दूसरी बार मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली। योगी के साथ 18 कैबिनेट मंत्री (2 डिप्टी सीएम), 14 स्वतंत्र प्रभार वाले राज्यमंत्री और 20 राज्यमंत्रियों को राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। प्रस्तुत है शपथ ग्रहण समारोह से जुड़ी हर जानकारी...

-योगी आदित्यनाथ ने दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली। योगी गोरखपुर सदर सीट से एक लाख से ज्यादा मतों से विजयी रहे हैं।


-मौर्य समाज से ताल्लुक रखने वाले केशव प्रसाद मौर्य डिप्टी सीएम पद की शपथ ली। वर्तमान में मौर्य एमएलसी हैं एवं प्रयागराज जिले की सिराथू सीट से विधानसभा चुनाव हार गए थे।
-पिछली सरकार में कानून मंत्री रहे ब्रजेश पाठक को इस बार दिनेश शर्मा के स्थान पर डिप्टी सीएम बनाया गया है। ब्राह्मण समाज से ताल्लुक रखने वाले पाठक लखनऊ कैंट से चुनाव जीते हैं।


कैबिनेट मंत्री-
-एमएलसी स्वतंत्र देव सिंह ने मंत्री पद की शपथ ली। पिछली सरकार में परिवहन मंत्री रहे सिंह वर्तमान में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भी हैं और कुर्मी समाज से आते हैं।
-पथरदेवा से चुनाव सूर्यप्रताप शाही ने मंत्री पद की शपथ ली। भूमिहार समाज से आने वाले शाही कल्याण सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं। पिछली सरकार में कृषि मंत्री रहे थे।
-खत्री समाज से आने वाले सुरेश खन्ना ने शपथ ली। खन्ना शाहजहांपुर से चुनाव जीते हैं। वे नौवीं बार विधायक बने हैं।

-जाटव समाज से ताल्लुक रखने वाली बेबीरानी मौर्य ने मंत्री पद की शपथ ली। आगरा ग्रामीण (एससी) सीट से विधायक बनीं मौर्य उत्तराखंड की राज्यपाल भी रह चुकी हैं। साथ ही 5 साल तक आगरा की मेयर भी रह चुकी हैं।
-यूपी की 3 सरकारों में मंत्री चौधरी लक्ष्मीनारायण ने शपथ ली। जाट समाज से आने वाले चौधरी मथुरा की छाता सीट से 5वीं बार विधायक बने हैं। पिछली सरकार में चौधरी पशुधन मंत्री रहे हैं।
-मैनपुरी से विधायक बने जयवीर सिंह ने मंत्री पद की शपथ ली। मायावती और मुलायम सरकार में भी सिंह मंत्री रह चुके हैं। राजपूत समाज से आने वाले जयवीर तीसरी बार विधायक बने हैं।
-आंवला सीट से विधायक धर्मपाल सिंह को राज्यपाल ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ दिलाई। योगी 1, राजनाथ सिंह और कल्याण सिंह मंत्रिमंडल में मंत्री रहे हैं धर्मपाल सिंह। लोध समाज से आते हैं धर्मपाल सिंह।
-नंदगोपाल गुप्ता नंदी ने मंत्री पद की शपथ ली। इलाहाबाद दक्षिण सीट से विधायक बने नंदी मायावती सरकार में मंत्री रह चुके हैं। वैश्य समाज से ताल्लुक रखने वाले नंदी नागरिक उड्‍डयन मंत्री रह चुके हैं। नंदी की पत्नी प्रयागराज की मेयर हैं।


-योगी-1 में पंचायत मंत्री रहे भूपेन्द्र चौधरी ने मंत्री पद की शपथ ली। जाट समुदाय से आने वाले चौधरी एमएलसी हैं और करीब 3 दशक से राजनीति में सक्रिय हैं।
-पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री रहे अनिल राजभर ने मंत्री पद की शपथ ली। राजभर दूसरी बार विधायक बने हैं और शिवपुर (वाराणसी) से चुनाव जीता है। अनिल राजभर ने ओमप्रकाश राजभर के बेटे को चुनाव हराया था।
-जितिन प्रसाद ने मंत्री पद की शपथ ली। ब्राह्मण समाज से आने वाले प्रसाद यूपीए सरकार में राज्यमंत्री रह चुके हैं। प्रसाद कुछ समय पहले ही कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे। वर्तमान में एमएलसी हैं।
-भोगनीपुर (कानपुर) से विधायक बने राकेश सचान ने मंत्री पद की शपथ ली। सचान चुनाव से पहले ही भाजपा में शामिल हुए थे और कुर्मी समाज से आते हैं। वे 3 बार विधायक और 1 बार सांसद रह चुके हैं।
-गुजरात कैडर के आईएएस रहे अरविंद कुमार शर्मा भी बने मंत्री। वे पीएम मोदी के करीबी माने जाते हैं और ब्राह्मण समाज से आते हैं। वे प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष भी है।
-लगातार तीसरी बार विधायक बने योगेन्द्र उपाध्याय ने मंत्री पद की शपथ ली। ब्राह्मण समाज से आने वाले उपाध्याय रियल इस्टेट कारोबारी हैं और आगरा दक्षिण सीट से विधायक हैं। पहली बार 2012 में विधायक बने थे।
-अपना दल (एस) के अध्यक्ष आशीष पटेल ने मंत्री पद की शपथ ली। पटेल यूपी विधान परिषद के सदस्य हैं। केन्द्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के पति हैं। करीब 2 दशक से राजनीति में हैं।
-निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉ. संजय निषाद ने मंत्री पद की शपथ ली। निषाद पार्टी से 6 बार विधायक रह चुके हैं और वर्तमान में विधान परिषद के सदस्य हैं। बेटे प्रवीण निषाद भाजपा से सांसद हैं।
Koo App
श्री केशव प्रसाद मौर्य जी और श्री ब्रजेश पाठक जी को उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री के रुप में शपथ लेने पर तथा आज शपथ लिए सभी मंत्रियों को हार्दिक बधाई। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी और मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में आपके सहयोग और प्रयास से उत्तर प्रदेश का तेज गति से विकास होगा यह मुझे विश्वास है। @myogiadityanath @kpmaurya1 @brajeshpathak

- Nitin Gadkari (@nitin.gadkari) 25 Mar 2022
राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार
-4 बार के विधायक नितिन अग्रवाल ने मंत्री के रूप में शपथ ली।
-मुजफ्फरनगर से विधायक का चुनाव जीते कपिलदेव अग्रवाल को भी राज्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई।
-रवीन्द्र जायसवाल (वाराणसी उत्तर), वैश्य समाज से आते हैं।
-संदीप सिंह (अतरौली), पूर्व मुख्‍यमंत्री कल्याण सिंह के पोते हैं। इनके पिता राजवीर सिंह भाजपा सांसद हैं। लोधी समाज से आते हैं।
-गुलाब देवी
(संभल की चंदौसी सीट), माध्यमिक शिक्षा मंत्री रह चुकी हैं और 5 बार की विधायक हैं। वे धोबी समाज से आती हैं।
-गिरीश चंद्र यादव (जौनपुर), लगातार 2 बार विधायक। पिछली सरकार में राज्यमंत्री रहे।
-पिछली सरकार में मंत्री रहे धर्मवीर सिंह प्रजापति वर्तमान में विधान परिषद के सदस्य हैं। ओबीसी समुदाय से आते हैं।
-असीम अरुण (कन्नौज), पिता यूपी के डीजीपी रहे हैं। अरुण जाटव समाज से आते हैं और पुलिस अधिकारी पद से इस्तीफा देकर चुनाव से ठीक पहले भाजपा में शामिल हुए थे।
-जयंत प्रताप सिंह राठौर वर्तमान में किसी भी सदन के सदस्य नहीं है।
-दयाशंकर सिंह पहली बार बलिया से चुनाव जीते हैं और भाजपा के उपाध्यक्ष रह चुके हैं। पूर्व मंत्री स्वाति सिंह के पति हैं।
-नरेन्द्र कश्यप किसी भी सदन के सदस्य नहीं। 1998 से 2010 तक 2 बार एमएलसी रह चुके हैं।
-एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह रायबरेली जिले के कद्दावर नेता हैं।
-अरुण कुमार सक्सेना बरेली से तीसरी बार विधायक बने हैं। कायस्थ समाज से आते हैं। इन्हें संतोष गंगवार का करीबी माना जाता है।
-दयाशंकर मिश्र दयालु किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं। पिछली सरकार में दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री रहे हैं। ब्राह्मण समाज से आते हैं।

राज्य मंत्री :
-दिनेश खटीक (हस्तिनापुर, मेरठ), 2017 में पहली बार विधायक बने। खटीक समाज से आते हैं।
-मयंकेश्वर शरण सिंह (तिलोई अमेठी), राजपूत, तिलोई राजघराने के सदस्य।
-बलदेव सिंह औलख (बिलासपुर)। सिख समाज से आते हैं।
-संजीव गौड़ (ओबरा), एसटी समाज से आते हैं।
-जसवंत सैनी (यूपी पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष), किसी भी सदन के सदस्य नहीं।
-प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह, सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, जनरल वीके सिंह, भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्‍डा, मध्यप्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत कई अन्य दिग्गज भाजपा नेता मंच पर मौजूद।

-योगी मंत्रिमंडल में 18 कैबिनेट, 14 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार और 20 राज्यमंत्री।
-इकाना स्टेडियम पहुंचा पीएम मोदी का हेलीकॉप्टर, कुछ ही देर में शपथ लेंगे योगी आदित्यनाथ।
-लखनऊ एयरपोर्ट पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। योगी आदित्यनाथ ने की पीएम मोदी की आगवानी।
-भाजपा नेता केशव प्रसाद मौर्य शपथग्रहण समारोह में पहुंचे, लोगों का अभिवादन किया।
-शाम 7 बजे होगी की पहली बैठक।
-पीएम मोदी को रिसिव करने योगी आदित्यनाथ एयरपोर्ट रवाना।
-इकाना स्टेडियम में उमड़ी लोगों की भीड़, लग रहे हैं मोदी और योगी के समर्थन में नारे।
-प्रदेश भाजपा महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ल ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत देश भर के गणमान्य मेहमानों के अलावा 70 हजार कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में भाजपा सरकार का शपथ ग्रहण समारोह होगा।
-उन्होंने बताया कि प्रदेश भर में मंदिरों में लोक कल्याण की कामना के साथ हवन पूजन करके कार्यकर्ता शपथ ग्रहण समारोह के लिए निकले हैं।
-शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने से पहले वाराणसी में भाजपा पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने विभिन्न मंदिरों में पूजा अर्चना कर सरकार के लिए आशीर्वाद मांगा।
-समारोह में प्रदेश भर के सामाजिक कार्यकर्ताओं, प्रमुख नेताओं, लेखक, साहित्यकार, चिकित्सक,अभियंता और धार्मिक मठ-मंदिरों के साधु-संतों को भी आमंत्रित किया जाएगा। देश भर के प्रमुख साधु संतों को भी आमंत्रित किया गया है।
-1985 में नारायण दत्‍त तिवारी के नेतृत्व में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने दोबारा पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई और तिवारी ने लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। योगी आदित्यनाथ के खाते में 37 वर्ष बाद यह रिकॉर्ड दर्ज होगा।



और भी पढ़ें :