सावधान! वैष्णो देवी यात्रा के लिए वेबसाइट्‍स दे रही हैं फर्जी हेलीकॉप्टर टिकट...

Author सुरेश एस डुग्गर| Last Updated: मंगलवार, 8 मार्च 2022 (16:56 IST)
हमें फॉलो करें
जम्मू। वैष्णो देवी की यात्रा पर आने वाले लाखों श्रद्धालुओं में से वे परेशान हैं जो हेलीकॉप्टर से यात्रा को सफल बनाना चाहते हैं और वे फर्जी हेलीकाप्टर टिकटों के चक्रव्यूह में फंसकर सिर्फ धोखा खा रहे हैं। ऐसे मामलों में श्राइन बोर्ड अभी तक श्रद्धालुओं को सिर्फ ऐसी फर्जी वेबसाइटों व ऐप से बचने की सलाह ही दे रहा था, अब उसने गूगल को इस मामले में सहायता करने की गुहार लगा चिट्ठी लिख अपना फर्ज पूरा कर लिया है। बोर्ड ने जम्मू कश्मीर पुलिस के साइबर विभाग में फर्जी बुकिंग करने वाली वेबसाइट्स के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई है। पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर मामले में जांच शुरू कर दी है।

के अधिकारी कहते हैं कि श्रद्धालुओं के साथ हेलीकॉप्टर बुकिंग को लेकर आए दिन हो रही ठगी को बोर्ड ने गंभीरता से लिया है। श्रद्धालुओं को कई बार जागरूक करने के बाद भी ठगी का यह सिलसिला जारी है। ऐसे में अब बोर्ड ने इस संबंध में एक कदम उठाते हुए गूगल को पत्र लिख यह मांग की है कि वह माता वैष्णो देवी से जुड़ी प्रत्येक को ब्लॉक कर दें ताकि श्रद्धालुओं को परेशानी न हो।
श्राइन बोर्ड के सीईओ रमेश कुमार ने कहा कि फर्जी बुकिंग वेबसाइटों के बारे में तीर्थयात्रियों से कई शिकायतें मिली हैं, जिसके बाद यह कदम उठाया गया है। उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं को फेक वेबसाइटों के प्रति सचेत रहने की जरूरत है। माता वैष्णो देवी आने वाले तीर्थयात्री सिर्फ बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट या फोन एप्लिकेशन पर जा कर ही बुकिंग के लिए आवेदन करें। किसी भी शातिर के झांसे में न आएं।
ऐसे ही एक मामले में एक तीर्थयात्री ने बताया कि उनके साथ टिकट बुकिंग के समय धोखा हुआ। उन्होंने कहा कि आधिकारिक वेबसाइट से छह व्यक्तियों के लिए एक हेलीकाप्टर बुक करने में विफल रहने पर, मैंने कुछ और विकल्प ढूंढे तो कुछ अन्य लिंक मिले जो मुझे एक वेबसाइट के पेज पर ले गए। हेलीकॉप्टर बुकिंग के लिए राशि जमा करने के बाद जब मुझसे बीमा राशि मांगी गई तो मुझे लगा कि कुछ गड़बड़ है। तब पता चला की मेरे साथ ठगी हुई है। वहीं, एक अन्य तीर्थयात्री ने कहा कि हमने ऑनलाइन हेलीकॉप्टर की टिकट बुकिंग की। हमें इसका टिकट भी मिल गया। लेकिन, जब हम यहां (माता वैष्णो देवी) आए तो पता चला कि टिकट फर्जी है।
दरअसल पिछले कई महीनों से यह शिकायतें मिल रही थी कि इंटरनेट मीडिया पर सक्रिय कुछ आनलाइन ठगों ने वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के नाम से कुछ फर्जी वेबसाइट तैयार की हैं। ये ठग इन वेबसाइट पर श्रद्धालुओं को हेलीकॉप्टर बुकिंग के नाम पर हर रोज लाखों का चूना लगा रहे हैं। बुकिंग की प्रक्रिया पूरी होने पर इन श्रद्धालुओं को जो दी जा रही हैं, जब वे टिकट लेकर कटड़ा हेलीपैड पहुंचते तो वहां उन्हें पता चला कि ये टिकटें फर्जी हैं। यही नहीं उन्होंने जिस वेबसाइट पर ये बुक की हैं, वे भी बोर्ड से संबंधित नहीं है।
अब यह मामला जम्मू-कश्मीर पुलिस की साइबर विंग के पास है, जो इसकी जांच कर रही है। कई फर्जी वेबसाइट को पहले ही ब्लॉक किया जा चुका है। लोगों को ऐसी फर्जी वेबसाइट से सावधान रहना चाहिए और बोर्ड की सही वेबसाइट या वैष्णो देवी ऐप पर जाकर ही हेलीकॉप्टर की टिकट करवानी चाहिए।



और भी पढ़ें :