नैनीताल समेत उत्तराखंड के हिल स्टेशनों ने ओढ़ी बर्फ की चादर

देहरादून| पुनः संशोधित सोमवार, 15 दिसंबर 2014 (21:47 IST)
हमें फॉलो करें
-ललित भट्‌ट देहरादून से
 
देहरादून। उत्तराखंड कड़ाके की ठंड की चपेट में है। केदारनाथ औली, आली बुग्याल, पंचाचूली, पिथौरागढ़ की तमाम चोटियों के बाद विश्‍वप्रसिद्ध पर्यटन नगरी भी 6 इंच मोटी बर्फ की चादर से ढंका हुआ है। आसपास की चोटियां गागर, रामगढ़, मुक्तेश्‍वर इलाकों में भी बर्फ की चादर से इन क्षेत्रों की नैसर्गिक खूबसूरती में चार चांद लग गए हैं। 
रविवार देर रात से बर्फबारी शुरू होने के बाद यह सोमवार दिन तक जारी थी। कई स्थानों पर यह बर्फबारी आफत का भी कारण बन रही है। पानी, बिजली, संचार एवं यातायात सेवाएं बर्फबारी की चपेट में हैं। इस कारण लोगों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। 
 
कई मुसाफिर जो अपने गंतव्यों के लिए चले थे। बर्फबारी के कारण रास्तों पर फंसकर रह गए हैं। मौज-मस्ती के लिए बर्फबारी देखने आने वाले पर्यटक भी जगह जगह फंसे बताए जा रहे हैं। पानी और बिजली न होने से लोगों का जीना मुहाल होने लगा है। मौसम विभाग अगले दो दिन तक मौसम के मिजाज में कोई परिवर्तन नहीं आने की चेतावनी दे रहा है। इस कारण लोगों का डर और बढ़ रहा है।
उत्तरकाशी के गंगोत्री, यमुनोत्री, हर्सिल समेत बद्री-केदार की तमाम घाटियों में भी चांदी के मानिंद बर्फ की चादर ने इन घाटियों की नैसर्गिक सौन्दर्य को भले ही बढ़ा दिया हो लेकिन ठंड की मार से भी लोगों की मुसीबतें बढ़ा दी हैं। इससे राज्य के मैदानी इलाके शीत लहर की चपेट में आ गए हैं।
 
पर्यटक इन क्षेत्रों में बर्फबारी देखने को आ रहे हैं। नैनीताल में कई पर्यटक वाहन बर्फ में फंस जाने से लोग परेशान भी दिखाई दिए। नैनीताल के बारापत्थर क्षेत्र टांकी ओर पंगूठ वाले मार्ग में भी बर्फ पर खेलते पर्यटक मौसम की इस बर्फबारी का मजा लेते दिखे हैं।
 
बर्फ के कारण नैनीताल और आसपास के क्षेत्रों में कड़ाके की ठंड पड़ गई है। ठंड के कारण कई स्थानों पर पाइप लाइनें भी जम गई हैं। इस कारण बिजली और पानी की भी आपूर्ति में प्रभाव पड़ने से लोगों का जनजीवन प्रभावित होने के समाचार है। विद्युत आपूर्ति रविवार की रात पूरे नैनीताल में बाधित रही। जो अब भी पूर्ण रूप से सुचारू नहीं हो पाई है। बर्फबारी के कारण पारा कई डिग्री नीचे आ गया है।
 
सड़कों पर आवाजाही बहाल करने के लिए प्रशासन ने बुल्‍डोजर के माध्यम से सड़कों से बर्फ हटाई है। बर्फबारी से पूर्व ओलावृष्टि के कारण भी तमाम क्षेत्रों में तापमान काफी गिर गया है। अलाव की व्यवस्था सभी स्थानों पर न होने से बेघर लोगों की इस ठंड ने मुसीबत बढ़ा दी है। देहरादून जिले के चकराता, मसूरी, धनौल्टी में भी बर्फबारी के कारण ठंड और मैदानी क्षेत्रों में शीतलहर का प्रकोप बढ़ा है। 



और भी पढ़ें :