अयोध्या: श्री राम जन्मभूमि की सुरक्षा होगी हाईटेक, सुरक्षा समिति की बैठक मे लिया गया फैसला

Photo - Twitter
Author संदीप श्रीवास्तव| पुनः संशोधित मंगलवार, 5 जुलाई 2022 (17:24 IST)
हमें फॉलो करें
अयोध्या। रामनगरी अयोध्या में बन रहे रामलला के भव्य राम मंदिर निर्माण की सुरक्षा व्यवस्था हाईटेक की जाएगी, जिसका फैसला सुरक्षा समिति बैठक मे लिया गया हैं। बैठक मे मुख्य रूप से कहा गया कि सुरक्षा व्यवस्था इतनी कुशल होगी कि श्रद्धालुओं को सहजता से दर्शन हो पाएंगे। इसके अलावा सुरक्षा के कारण भक्तों की गतिविधियां प्रभावित ना हो, इस बात पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा।

इस स्थायी समिति की बैठक में सुरक्षा के अधिकारियो के अतिरिक्त ट्रस्ट के पदाधिकारी व अन्य सदस्य भी उपस्थित रहे। बैठक मे निर्णय लिया गया है कि श्री राममंदिर के निर्माण के बाद दर्शन के लिए विश्व भर से आने वाले लाखों श्रद्धांलुओं और उनके सामानों की सुरक्षा को लेकर चर्चा की गयी जिसके आधार पर सुरक्षा का खाका तैयार किया जा रहा है।

ये बैठक एडीजी सुरक्षा की अध्यक्षता में चल रही थी, जिसमें राम मंदिर निर्माण के बाद रामलला की सुरक्षा को तकनीकी साधनों से जोड़ने के लिए मंथन हुआ। बैठक में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर अंतिम मुहर लगी, जिसके बाद शासन को प्रस्ताव भी भेजा गया।
बैठक के बाद एडीजी जोन बृज भूषण ने बताया कि ये बैठक सभी सुरक्षा के दस्तों के साथ की गई है। राम मंदिर की सुरक्षा के साथ श्रद्धालुओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए खाका तैयार किया गया हैं। सुरक्षा से श्रद्धालुओं को कोई असुविधा ना हो इस पर भी मंथन किया गया है। राम लाला की सुरक्षा इतनी हाईटेक होगी की परिंदा भी पर नहीं मार पाएगा
दूसरी ओर एडीजी सुरक्षा बी के सिंह ने बताया कि रामलला के मंदिर निर्माण के बाद स्ट्रक्चर कैसा होगा, इस पर भी विचार मंथन किया गया है। सुरक्षा व्यवस्था के स्ट्रक्चर को फाइनल स्वरूप देने की कोशिश की गई है। उन्होंने बताया कि स्टेट फोर्स और सेंट्रल फोर्स के आपसी तालमेल के साथ सुरक्षा का खाका तैयार किया जा रहा है। ट्रस्ट के पदाधिकारियों से बिंदुवार सुरक्षा को लेकर चर्चा की गई है। सिंह ने कहा कि हम सबके प्रयास से एक ऐसा सिस्टम बनाया जाएगा जो सुरक्षित हो लेकिन जनता के लिए किसी तरह की अव्यवस्था को जन्म न दे।
वही ट्रस्ट के महासचिव ने जानकारी देते हुए बताया कि सुरक्षा को लेकर सरकार द्वारा बनाई गई स्थायी समिति की बैठक वर्ष मे हर तीसरे माह आयोजित की जाती है, जिसमें ट्रस्ट के पदाधिकारियों के अतिरिक्त शासन-प्रसाशन व सुरक्षा एजेंसियो से संबंधित अधिकारी एवं इंटेलिजेन्स के अधिकारी भी उपस्थित रहते हैं। इस बार की बैठक मे मुख्य रूप से मंदिर निर्माण के बाद आने वाली श्रद्धांलुओं की भारी-भरकम भीड़ व उनके समानो की व्यापक सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही साथ श्री रामजन्म भूमि की पुख्ता सुरक्षा के विषय में चर्चा की गई।



और भी पढ़ें :