खुद को कश्मीरी पंडित बताने वाले राहुल गांधी के बयान पर बवाल, हमलावर हुई भाजपा

पुनः संशोधित शुक्रवार, 10 सितम्बर 2021 (20:30 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। खुद को बताए जाने पर के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भाजपा के निशाने पर आ गए हैं। भाजपा ने कहा कि लगता है कि राहुल गांधी अपने दादा फिरोज गांधी को भूल गए हैं। इसी तरह भाजपा नेता संबित पात्रा ने भी राहुल पर तुष्टिकरण का आरोप लगाया।


भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने जम्मू-कश्मीर की समस्या के लिए कांग्रेस पार्टी और नेहरू को जिम्मेदार ठहराया। कश्मीर की जो समस्या अब तक बनी हुई है, उसके लिए कांग्रेस की तुष्टिकरण की नीति जिम्मेदार है। उन्होंने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा कि कश्मीर में अनुच्छेद-370 खत्म करने के लिए जब संसद में गृहमंत्री अमित शाह खड़े हुए, उस वक्त सोनिया गांधी के इशारे पर लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधिरंजन चौधरी ने इसे द्विपक्षीय मामला बताते हुए पाकिस्तान से पूछे जाने की बात कही थी।

दूसरी ओर एक टीवी चैनल पर बहस के तौरान भाजपा नेता त्यागी ने कहा कि राहुल के खुद को कश्मीरी पंडित बताए जाने पर उन्होंने पूछा कि दादा फिरोज गांधी को भूल गए क्या। आज खुद को कश्मीरी पंडित कहने वाले जब मुस्लिम बुद्धिजीवियों के बीच जाते हैं तो कहते हैं कि उनकी पार्टी तो मुसलमानों की है।

क्या कहा था राहुल गांधी ने : राहुल गांधी ने शुक्रवार को विस्थापित कश्मीरी पंडितों से कहा कि वह और उनका परिवार इसी समुदाय से आता है तथा उन्हें हरसंभव सहायता मुहैया कराने का वादा किया। उन्होंने भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर आरोप लगाया कि वे जम्मू-कश्मीर की समग्र संस्कृति को तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं और कहा कि दोनों संगठन केंद्र शासित प्रदेश के लोगों में प्यार एवं भाईचारे को ‘खत्म’ कर रहे हैं।

गांधी ने कश्मीरी भाइयों से कहा कि मैं आपकी मदद करके दिखाऊंगा। मैं झूठ नहीं बोलता।’ उन्होंने कहा कि वह खुद ही कश्मीरी पंडित समुदाय से आते हैं और उनके दर्द को महसूस करते हैं। आज सुबह कश्मीरी पंडित भाइयों का प्रतिनिधिमंडल आया था। प्रतिनिधिमंडल के सदस्य जब मुझसे बात कर रहे थे तो मेरे दिमाग में यह बात आई कि मैं भी इसी समुदाय का हिस्सा हूं।




और भी पढ़ें :