राहुल ने इस तरह महात्मा गांधी को किया याद, मच गया बवाल

पुनः संशोधित रविवार, 30 जनवरी 2022 (14:50 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। कांग्रेस ने रविवार को महात्मा गांधी की 74वीं पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि दी और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि 'हिंदुत्ववादियों' को लगता है कि गांधी जी नहीं रहे, लेकिन जहां सत्य है, वहां वह अब भी जीवित हैं।

आज ही के दिन 1948 में नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। राष्ट्रपिता की पुण्यतिथि को शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है।

कांग्रेस नेता ने 'फॉरएवर गांधी' हैशटैग का इस्तेमाल करते हुए ट्वीट किया, 'एक 'हिंदुत्ववादी' ने गांधी जी को गोली मारी थी। सभी 'हिंदुत्ववादियों' को लगता है कि गांधीजी नहीं रहे। जहां सत्य है, वहां बापू आज भी जीवित हैं।'
राहुल गांधी ने अपने ट्विटर हैंडल पर महात्मा गांधी की एक टिप्पणी को भी साझा किया, 'जब मैं निराश होता हूं, मैं याद कर लेता हूं कि समस्त इतिहास के दौरान सत्य और प्रेम के मार्ग पर चलने वाले ही हमेशा विजयी होते हैं। कितने ही तानाशाह और हत्यारे हुए हैं, और कुछ समय के लिए वो अजेय लग सकते हैं, लेकिन अंत में उनका पतन होता हैं। इसके बारे में हमेशा सोचो।'
भाजपा नेता संबित पात्रा ने इस पर पलटवार करते हुए कहा कि राहुल गांधी की ये निराशावादी राजनीति है। उन्होंने कहा कि
नेहरू ने गांधी की सुरक्षा क्यों नहीं बढ़ाई? राहुल गांधी पुराना रिकॉर्ड बजा रहे हैं, उन्हें हिंदुओं का अपमान कर के खुशी मिलती है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी महात्मा गांधी को श्रद्धाजंलि देते हुए उनका एक वचन ट्वीट किया, 'अहिंसा कायरता की आड़ नहीं है, बल्कि यह वीर व्यक्ति का सर्वोच्च गुण है।'

कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा, 'हम राष्ट्रपिता को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देते हैं। इस दिन को शहीद दिवस के रूप में भी मनाया जाता है, हम उन सभी बहादुर पुरुषों और महिलाओं को सलाम करते हैं जिन्होंने देश के लिये अपने प्राणों की आहुति दी।'
कांग्रेस ने कहा, 'हमारे प्यारे बापू आज भले ही इस कठिन समय में हमारा नेतृत्व करने के लिए हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन अत्याचार, उदासीनता, अन्याय और झूठ के खिलाफ निडर और अथक रूप से लड़ने के उनके तरीके एक समृद्ध और प्रगतिशील भारत की हमारी तलाश में हमारा मार्गदर्शन करते हैं।'



और भी पढ़ें :