पंजाब ने सबसे अधिक घटाए पेट्रोल के दाम, जानिए किन राज्यों ने कितनी कम कीं पेट्रोल-डीजल की कीमतें

Last Updated: रविवार, 14 नवंबर 2021 (17:54 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। कांग्रेस शासित में पेट्रोल कीमतों में सबसे अधिक कटौती हुई है। राज्य सरकार द्वारा स्थानीय बिक्रीकर या मूल्यवर्धित कर (वैट) को घटाने के बाद पंजाब पेट्रोल कीमतों में सबसे अधिक कटौती वाला राज्य बन गया है, वहीं संघ शासित प्रदेश में डीजल मूल्य में सर्वाधिक कटौती हुई है।

केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क में 5 रुपए प्रति लीटर और डीजल में 10 रुपए प्रति लीटर की कटौती के बाद 25 राज्यों और संघ शासित प्रदेशों ने वाहन ईंधन पर वैट घटाया है। इससे उपभोक्ताओं को रिकॉर्ड उच्चस्तर पर पहुंच चुकी पेट्रोल, डीजल की ऊंची कीमतों से कुछ राहत मिली है। सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों द्वारा उपलब्ध कराए गए मूल्य कटौती के ब्योरे के अनुसार उत्पाद शुल्क और वैट कटौती के बाद पेट्रोल का दाम 16.02 रुपए प्रति लीटर घट गया है, वहीं डीजल कीमतों में 19.61 रुपए प्रति लीटर की कमी आई है।
पंजाब में पेट्रोल का दाम सबसे अधिक 16.02 रुपए प्रति लीटर कम हुआ है। लद्दाख में पेट्रोल 13.43 रुपए प्रति लीटर और में 13.35 रुपए प्रति लीटर सस्ता हुआ है। पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। पंजाब में पेट्रोल पर वैट 11.27 रुपए प्रति लीटर कम हुआ है, वहीं उत्तरप्रदेश में इसमें 6.96 रुपए प्रति लीटर की कटौती हुई है। उत्तरप्रदेश में भी अगले साल विधानसभा चुनाव हैं। गुजरात में पेट्रोल पर वैट 6.82 रुपए प्रति लीटर घटाया गया है। वहीं ओडिशा ने बिक्रीकर में 4.55 रुपए प्रति लीटर और बिहार ने 3.21 रुपए प्रति लीटर की कटौती की है।
लद्दाख में डीजल कीमतों में सबसे अधिक कमी आई है। लद्दाख में डीजल पर 10 रुपए प्रति लीटर की उत्पाद शुल्क की कटौती के अलावा वैट में भी 9.52 रुपए प्रति लीटर की कमी की गई है। कर्नाटक ने डीजल पर वैट 9.30 रुपए तथा पुडुचेरी ने 9.02 रुपए प्रति लीटर घटाया है।

पंजाब ने डीजल पर वैट 6.77 रुपए कम किया है जबकि उत्तरप्रदेश ने इसमें 2.04 रुपए प्रति लीटर की कटौती की है। उत्तराखंड ने डीजल पर वैट 2.04 रुपए और हरियाणा ने भी 2.04 रुपए प्रति लीटर घटाया है। बिहार ने डीजल पर वैट 3.91 रुपए और ओडिशा ने 5.69 रुपए प्रति लीटर घटाया है। मध्यप्रदेश ने डीजल पर कर में 6.96 रुपए प्रति लीटर की कटौती की है।
जिन राज्यों/संघ शासित प्रदेशों ने वाहन ईंधन पर वैट में कटौती की है, उनमें लद्दाख, कर्नाटक, पुडुचेरी, जम्मू-कश्मीर, सिक्किम, मिजोरम, हिमाचल प्रदेश, दमन एवं दीव, दादर एवं नगर हवेली, चंडीगढ़, असम, मध्यप्रदेश, त्रिपुरा, गुजरात, नगालैंड, पंजाब गोवा, मेघालय, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, अंडमान एवं निकोबार, बिहार, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश और हरियाणा शामिल हैं।
वहीं कांग्रेस और उसके सहयोगियों के शासन वाले राजस्थान, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, झारखंड और तमिलनाडु ने अभी वाहन ईंधन पर वैट में कटौती नहीं की है। इसके अलावा आप शासित दिल्ली, तृणमूल कांग्रेस शासित प. बंगाल, वामदल शासित केरल, टीआरएस शासित तेलंगाना तथा वाईएसआर कांग्रेस शासित आंध्रप्रदेश ने भी अभी वैट में कटौती नहीं की है।



और भी पढ़ें :