Live Updates : मन की बात में पीएम मोदी बोले, अमृत महोत्सव से मिलती से प्रेरणा

Last Updated: रविवार, 28 नवंबर 2021 (11:38 IST)
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को मन की बात कार्यक्रम के जरिए देशवासियों को संबोधित करेंगे। पल-पल की जानकारी...

11:35AM, 28th Nov
-मैं आज भी सत्ता में नहीं हूं और भविष्य में भी सत्ता में जाना नहीं चाहता हूं।
-मैं सिर्फ सेवा में रहना चाहता हूं। मेरे लिए ये पद, सत्ता के लिए है ही नहीं, सेवा के लिए है।
-युवाओं से समृद्ध हर देश में तीन चीजें बहुत मायने रखती हैं। 
-पहली चीज है – Ideas और Innovation, दूसरी है – जोखिम लेने का जज्बा, तीसरी है – Can Do Spirit, यानी किसी भी काम को पूरा करने की जिद्द। जब ये 3 चीजें आपस में मिलती हैं तो अभूतपूर्व परिणाम मिलते हैं।
-आपको ये जानकार बेहद ख़ुशी होगी कि अब Unicorns की दुनिया में भी भारत तेज उड़ान भर रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक इसी साल एक बड़ा बदलाव आया है। सिर्फ 10 महीनों में ही भारत में हर 10 दिन में एक Unicorn बना है।
11:24AM, 28th Nov
-सरकार के प्रयासों से, सरकार की योजनाओं से कैसे कोई जीवन बदला उस बदले हुए जीवन का अनुभव क्या है? 
-जब ये सुनते हैं तो हम भी संवेदनाओं से भर जाते हैं। 
-यह मन को संतोष भी देता है और उस योजना को लोगों तक पहुंचाने की प्रेरणा भी देता है।
11:23AM, 28th Nov
-मेघालय में वायरल हुई फ्लाइंग बोट की तस्वीर।
-हवा में तैरती इस नाव को जब हम करीब से देखते है तब हमें पता चलता है कि ये तो नदी के पानी में चल रही है। -नदी का पानी इतना साफ़ है कि हमें उसकी तलहटी दिखती है और नाव हवा में तैरती सी लगने लग जाती है।
-प्रकृति का संरक्षण जरूरी। वह मां की तरह पालन करती है।
-हम उन्हें बचाएं, उन्हें फिर से उनका असली रूप लौटाएं। इसी में हम सबका हित है।
 
-जालौन में एक पारंपरिक नदी थी – नून नदी। यहां के किसानों के लिए पानी का प्रमुख स्त्रोत हुआ करती थी.. धीरे-धीरे नून नदी लुप्त होने की कगार पर पहुंच गई।
-जालौन के लोगों ने इस स्थिति को बदलने का बीड़ा उठाया। यहां की पंचायतों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर काम करना शुरू किया।
11:21AM, 28th Nov
-पीएम मोदी ने कहा-वृन्दावन के बारे में कहा जाता है कि ये भगवान के प्रेम का प्रत्यक्ष स्वरूप है।
-हमारे संतों ने भी कहा है – यह आसा धरि चित्त में, यह आसा धरि चित्त में, कहत जथा मति मोर।
वृंदावन सुख रंग कौ, वृंदावन सुख रंग कौ, काहु न पायौ और।
-वृंदावन की महिमा हम सब अपने-अपने सामर्थ्य के हिसाब से कहते जरूर हैं, लेकिन वृंदावन का जो सुख है, यहाँ का जो रस है, उसका अंत कोई नहीं पा सकता, वो तो असीम है। तभी तो वृंदावन दुनियाभर के लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करता रहा है। इसकी छाप दुनिया के कोने-कोने में मिल जाएगी।
-ऑस्ट्रेलिया की जगत तारिणी जी वृन्दावन आई थी। वे यहां इतनी रच बस गई कि ऑस्ट्रेलिया जाकर वहीं वृन्दावन बसा लिया।
-जगत तारिणी जी का यह अद्भुत प्रयास वाकई, हमें कृष्ण भक्ति की शक्ति का दर्शन कराता है। मैं उन्हें इस प्रयास के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूं।
 

11:12AM, 28th Nov
-आजादी में अपने जनजातीय समुदाय के योगदान को देखते हुए देश ने जनजातीय गौरव सप्ताह भी मनाया है।
-देश के अलग-अलग हिस्सों में इससे जुड़े कार्यक्रम भी हुए।
-अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में जारवा और ओंगे, ऐसे जनजातीय समुदायों के लोगों ने अपनी संस्कृति का जीवंत प्रदर्शन किया।
-पिछले दिनों दिल्ली में 'आजादी की कहानी-बच्चों की जुबानी’ कार्यक्रम में बच्चों ने स्वाधीनता संग्राम से जुड़ी गाथाओं को प्रस्तुत किया। 
-खास बात ये रही कि इसमें भारत के साथ नेपाल, मौरिशस, तंजानिया, न्यूजीलैंड और फीजी के स्टूडेंट्स भी शामिल हुए।
11:06AM, 28th Nov
-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, संसद से पंचायत तक आजादी का अमृत महोत्सव।
-अमृत महोत्सव से प्रेरणा मिलती है।
-दिसंबर महीने Navy Day और Armed Forces Flag Day भी देश मनाता है।
-हम सबको मालूम है 16 दिसम्बर को 1971 के युद्ध का स्वर्णिम जयन्ती वर्ष भी देश मना रहा है।
-मैं इन सभी अवसरों पर देश के सुरक्षा बलों का स्मरण करता हूं, हमारे वीरों का स्मरण करता हूं। 

11:04AM, 28th Nov
-पीएम मोदी ने कहा, मन की बात का परिवार बढ़ रहा है। 
-मन की बात के लिए सुझाव मिलते रहते हैं।



और भी पढ़ें :