Monsoon session Live : फोन टैपिंग मामले पर संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव का लोकसभा में बयान

Last Updated: सोमवार, 19 जुलाई 2021 (15:41 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। संसद का मानसून सत्र आज से शुरू हो रहा है। केंद्र सरकार संसद के मानसून सत्र के दौरान कई विधेयकों को पारित कराने के एजेंडे के साथ सदन में जाएगी। वहीं, विपक्ष भी कोविड-19 की दूसरी लहर से निपटने के तरीके, ईंधन की कीमतों में वृद्धि और किसान आंदोलन के मुद्दे पर सरकार को घेरने की तैयारी कर रहा है। सरकार ने इस सत्र के दौरान 17 नए विधेयकों को पेश करने के लिए सूचीबद्ध किया है। इनमें से 3 विधेयक हाल में जारी अध्यादेशों के स्थान पर लाए जाएंगे।  इनमें से 1 अध्यादेश 30 जून को जारी किया गया था जिसके जरिए रक्षा सेवाओं में शामिल किसी के विरोध प्रदर्शन या हड़ताल में शामिल होने पर रोक लगाई गई है। 

03:55PM, 19th Jul
TMC ने केंद्रीय मंत्री को कहा ‘बांग्लादेशी’ बताया, राज्यसभा में हुआ हंगामा
तृणमूल कांग्रेस ने हाल ही में केंद्रीय मंत्रिपरिषद में शामिल किए गए पश्चिम बंगाल के एक सांसद को सोमवार को कथित तौर पर ‘बांग्लादेशी’ बताया और इस बारे में सरकार से स्पष्टीकरण की मांग की। दो बार के स्थगन के बाद दो बजे जैसे ही सदन की कार्यवाही आरंभ हुई, तृणमूल कांग्रेस के सुखेंदु शेखर रॉय ने नियमों का हवाला देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी मंत्रिपरिषद के जिन सहयोगियों की सूची आज सदन के पटल पर रखी है ‘उनमें एक राज्यमंत्री कथित तौर पर बांग्लादेशी’ हैं।
 
राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में एक नोटिस दिया है। खड़गे ने कहा, ‘‘वह बांग्लादेशी हैं या नहीं, यह जानने को मुझे पूरा अधिकार है।’सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्यों ने इसका कड़ा विरोध किया। सदन के नेता पीयूष गोयल ने विपक्षी सदस्यों के आरोपों को ‘बेबुनियाद' करार दिया और इसमें सच्चाई नहीं होने का दावा करते हुए उपसभापति हरिवंश से इसे सदन की कार्यवाही से बाहर निकालने का आग्रह किया।
 
उन्होंने कहा कि जिस प्रकार की बेबुनियाद बातें सदन में रखने की कोशिश की जा रही है, उसकी हम घोर निंदा करते हैं। इसमें सत्यता नहीं है। उन्होंने विपक्षी सदस्यों पर समाज के एक वर्ग विशेष को अपमानित करने का आरोप लगाया और उपसभापति से विपक्षी सदस्यों द्वारा उठाए गए विषय को कार्यवाही में शामिल नहीं करने का अनुरोध किया। इसके जवाब में हरिवंश ने कहा, ‘‘इसका परीक्षण किया जाएगा।’’
03:41PM, 19th Jul
फोन टैपिंग मामले पर संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने लोकसभा में कहा- फोन टैपिंग से जासूसी के आरोप निराधार। डेटा लीक गुमराह करने वाले तथ्य। डेटा से जासूसी से कोई संबंध नहीं। डेटा से साबित नहीं हुआ सर्विलांस हुआ है। 
03:26PM, 19th Jul
हंगामे के कारण राज्यसभा कल के लिए स्थगित हुई।
03:11PM, 19th Jul
नकवी होंगे राज्यसभा के उप नेता : केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी को राज्यसभा का उप नेता नियुक्त किया गया है। सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी। माना जाता है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता नकवी संसदीय मामलों पर अच्छी पकड़ रखते हैं। वह विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ अच्छे संबंध एवं समन्वय के लिए भी जाने जाते हैं।
 
इससे पहले उच्च सदन में उप नेता की जिम्मेदारी केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के पास थी जिन्हें पिछले दिनों राज्यसभा का नया नेता नियुक्त किया गया है। गोयल से पहले थावर चंद गहलोत नेता सदन थे। हालांकि मंत्रिपरिषद विस्तार से ठीक पहले उन्हें कर्नाटक का राज्यपाल नियुक्त किया गया।
01:00PM, 19th Jul
-राज्यसभा में भी हंगामा। विपक्षी सांसद वेल तक पहुंचे। सभापति वेंकैया नायडू ने जताई नाराजगी। नायडू ने कहा कि विपक्षी सांसद मर्यादा भूल गए हैं। 
 
12:40PM, 19th Jul
- पीएम मोदी ने कहा- दलित ओबीसी का मंत्री बनना विपक्ष को रास नहीं आया। 
- राज्यसभा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन के दौरान हंगामा। प्रधानमंत्री नए मंत्रियों का परिचय दे रहे थे।
- राज्यसभा में प्रधानमंत्री ने कहा- विपक्ष की मानसिकता महिला विरोधी।
12:18PM, 19th Jul
रक्षामंत्री ने हंगामे को बताया दुर्भाग्यपूर्ण : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नए मंत्रियों का परिचय कराने के दौरान कांग्रेस सदस्यों के हंगामे को दु:खद और दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि उन्होंने संसद में ऐसा दृश्य अपने 24 वर्ष के संसदीय जीवनकाल में नहीं देखा।
 
संसद के मॉनसून सत्र के पहले दिन लोकसभा की बैठक शुरू होने पर नव निर्वाचित सदस्यों ने शपथ ली। इसके बाद जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने मंत्रिपरिषद के नये मंत्रियों का परिचय कराने के लिए उठे तो विपक्षी कांग्रेस के सदस्यों ने नारेबाजी शुरू कर दी। हंगामे के बीच प्रधानमंत्री ने नये मंत्रियों के परिचय का विवरण सदन के पटल पर रखा।
 
इस संबंध में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि संसद की सबसे बड़ी शक्ति स्वस्थ परंपराएं होती हैं। संसद की ये स्वस्थ परंपराएं संविधान एवं संसद नियमों पर आधारित होती हैं और संसद की स्वस्थ परंपराओं को बनाकर रखना सत्ता पक्ष, विपक्ष सभी की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि मेरा 24 वर्षों का संसद का अनुभव रहा है और हमेशा से देखा है कि जो भी प्रधानमंत्री होते हैं वह कार्यवाही शुरू होने पर सबसे पहले अपने मंत्रिमंडल विस्तार की जानकारी देते हैं। 
 
सिंह ने कहा कि एक मंत्री हों या अनेक मंत्री हों, प्रधानमंत्री सभी का परिचय कराते हैं और पूरा सदन उनकी बात को शांतिपूर्ण तरीके से सुनता है। उन्होंने कहा कि मैंने अपने 24 वर्ष के संसदीय जीवन में पहली बार देखा है कि इस परंपरा को तोड़ा गया है। कांग्रेस ने आज जो किया है वह दु:खद और दुर्भाग्यपूर्ण है। इस दौरान कांग्रेस सदस्यों को ‘काले कानून वापस लो’ के नारे लगाते सुना गया।
11:48AM, 19th Jul
- लोकसभा की कार्रवाई 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है। लोकसभा अध्यक्ष प्रश्नकाल की शुरुआत करना चाहते थे।
- रक्षामंत्री राजनाथ ने भी प्रधानमंत्री के संबोधन के दौरान नाराजगी जताई। 
- प्रधानमंत्री के संबोधन के दौरान किसानों और महंगाई के मुद्दे पर हंगामा हुआ।
भारी हंगामे के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि खुशी की बात है कि कई दलित भाई मंत्री बने हैं। हमारे कई मंत्री ग्रामीण परिवेश से है, लेकिन कुछ लोगों को ये रास नहीं आ रहा है। मैं सोच रहा था कि आज सदन में उत्साह का वातावरण होगा क्योंकि बहुत बड़ी संख्या में हमारी महिला सांसद, दलित भाई, ​आदिवासी, किसान परिवार से सांसदों को मंत्री परिषद में मौका मिला। उनका परिचय करने का आनंद होता।
11:14AM, 19th Jul
- लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नए मंत्रियों का परिचय करवाया। विपक्ष का हंगामा। हंगामे के बीच प्रधानमंत्री ने मंत्रियों का परिचय करवाया।  
- राज्यसभा के सभापति एम वैंकेया नायडू ने वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल को राज्यसभा में सदन का नेता बनाए जाने की घोषणा की।
- खबरों के मुताबिक जासूसी कांड के आरोपों पर वरिष्ठ मंत्रियों की बैठक हुई। 
10:37AM, 19th Jul
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि संसद का मानसून सत्र सार्थक चर्चा के लिए समर्पित हो क्योंकि जनता कई मुद्दों पर जवाब चाहती है और इसके लिए सरकार पूरी तरह तैयार है। संसद के मानसून सत्र के पहले दिन पत्रकारों से चर्चा में प्रधानमंत्री ने विपक्षी दलों से तीखे से तीखे सवाल पूछने को कहा लेकिन साथ ही आग्रह किया कि शांत वातावरण में वह सरकार को जवाब देने का मौका भी दें।

उन्होंने टीका लगाने वालों को ‘बाहुबली’ करार दिया और कहा कि अब तक चालीस करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लग चुका है और आगे भी यह सिलसिला तेज गति से जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना ऐसी महामारी है जिसकी चपेट में पूरा विश्व और मानव जाति है। हम चाहते हैं कि इस संदर्भ में संसद में सार्थक चर्चा हो ओर प्राथमिकता के आधार पर हो। सारे सांसद का सुझाव भी मिले।

इससे कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बहुत नयापन भी आ सकता है ओर यदि कमियां रह गई हों तो उन्हें ठीक भी किया जा सकता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी के मुद्दे पर वह सभी मुख्यमंत्रियों और अन्य लोगों से चर्चा करते रहे हैं। उन्होंने इस संबंध में सदन के नेताओं से भी चर्चा करने की इच्छा जताई। उन्होंने कहा कि संसद का यह सत्र परिणामकारी हो और सार्थक चर्चा के लिए समर्पित हो। जनता जवाब चाहती है और सरकार की भी जवाब देने की तैयारी है।
10:12AM, 19th Jul
कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और शिवसेना उठाएगी जासूसी का मुद्दा। संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद ने कहा कि सरकार हर मुद्दे पर बात करने को तैयार है। सरकार की मंशा है कि सदन सुचारू रूप से चले। 
09:17AM, 19th Jul
- आम आदमी पार्टी के लोकसभा सांसद भगवंत मान ने केंद्र सरकार के कृषि कानूनों को लेकर सदन में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया।
- कांग्रेस सांसद मनिकम टैगोर ने पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ती कीमतों और महंगाई पर चर्चा करने के लिए सदन में कार्यस्थगन नोटिस दिया।
- कांग्रेस के लोकसभा सांसद मनीष तिवारी ने केंद्र सरकार के कृषि कानूनों को लेकर सदन में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया।
07:41AM, 19th Jul
विपक्ष इन मुद्दों पर कर सकता है घेराव : कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के दौरान स्वास्थ्य सेवाओं की कथित कमी और राज्यों को टीके के वितरण के मुद्दे पर सरकार को घेरने की तैयारी कर रहा है। विपक्ष पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में वृद्धि और जासूसी जैसे मुद्दों को लेकर भी मोदी सरकार से जवाब मांगेगा।
07:40AM, 19th Jul
सरकार द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक के बाद विपक्षी दलों ने संसद में रणनीति पर चर्चा के लिए अलग से बैठकें कीं। विपक्षी दल की बैठक के बाद आरएसपी नेता एन. के. प्रेमचन्द्रन ने बताया कि विभिन्न विपक्षी पार्टियां किसानों के मुद्दे पर संसद के दोनों सदनों में स्थगन प्रस्ताव लाएंगी। विपक्षी दलों की बैठक में कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा), मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ((माकपा), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा), आईयूएमएल, आरएसपी, शिवसेना और आम आदमी पार्टी (आप) के नेताओं ने हिस्सा लिया। सर्वदलीय बैठक में कुल 33 पार्टियों के नेताओं ने हिस्सा लिया
07:40AM, 19th Jul
संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को सर्वदलीय बैठक में कहा कि सरकार संसद में विभिन्न मुद्दों पर उपयोगी चर्चा करने के पक्ष में है। प्रधानमंत्री ने सदन में विभिन्न दलों के नेताओं से कहा कि देश की स्वस्थ लोकतंत्र की परंपरा, लोगों से जुड़े मुद्दों को सौहार्दपूर्ण तरीके से उठाया जाना चाहिए और सरकार को इन चर्चाओं पर प्रतिक्रिया देने का विकल्प देना चाहिए।
 



और भी पढ़ें :