राज्यसभा में वित्त मंत्री सीतारमण बोलीं, विकास के लिए 25 साल का रोडमैप जरूरी

Last Updated: शुक्रवार, 11 फ़रवरी 2022 (11:07 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री ने शुक्रवार को राज्यसभा में केंद्रीय पर चर्चा का जवाब दिया। चर्चा के दौरान वित्त मंत्री ने कहा कि इस बजट से निरंतरता आएगी और ये बजट अर्थव्यवस्था में स्थिरता लाएगा।

वित्त मंत्री ने कहा कि भारत में स्टार्टअप के लिए बेहतर सुविधाएं हैं। उन्होंने कहा कि विकास के लिए 25 साल का रोडमैप जरूरी है। हमारा पूरा जोर आर्थिक विकास पर है। उन्होंने कहा कि देश में 20 से ज्यादा स्टार्टअप यूनिकार्न बनाए गए हैं।
उन्होंने कहा कि कोविड महामारी के कारण भारतीय अर्थव्यवस्था को 9.57 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ जबकि 2008-09 की वैश्विक मंदी में 2.12 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ था।
वित्त वर्ष 2008-09 में जब वित्तीय संकट कम गंभीर था, मुद्रास्फीति की दर 9.1 प्रतिशत थी जबकि महामारी का अर्थव्यवस्था पर ज्यादा प्रभाव पड़ा लेकिन उस दौरान यह दर 6.2 प्रतिशत रही।

वित्त मंत्री ने कहा कि कोविड महामारी के कारण भारतीय अर्थव्यवस्था के आकार में सबसे ज्यादा कमी आई। बजट 2022-23 का मकसद अर्थव्यवस्था को स्थिर और स्थायी प्रोत्साहन देना था।



और भी पढ़ें :