जानिए कौन हैं निर्मला सीतारमण, निजी जीवन, परिवार से लेकर फाइनेंस मिनिस्‍टर तक?

Last Updated: मंगलवार, 1 फ़रवरी 2022 (12:23 IST)
हमें फॉलो करें
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज यानी 1 फरवरी को अपना चौथा बजट (budget 2022) पेश करेंगी। निर्मला सीतारमण देश की दूसरी पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री हैं।

इतना ही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले कार्यकाल में वे दूसरी पूर्णकालिक महिला रक्षामंत्री भी बनीं थीं। आपको यह बात जानकर हैरानी होगी कि उनसे पहले केवल इंदिरा गांधी इन पदों पर थीं। निर्मला सीतारमण ने 2008 में राजनीति में पहला कदम रखा और एक सदस्य के रूप में भाजपा में शामिल हो गईं।

बता दें कि उनके सास और ससुर कांग्रेस में रह चुके हैं। सीतारमण की सास आंध्रप्रदेश से कांग्रेस की विधायक और ससुर मंत्री रह चुके हैं।

मदुरै में हुआ जन्म
निर्मला सीतारमण का जन्म 18 अगस्त 1959 को मदुरै के एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम नारायण सीतारमण है और वे रेलवे में थे। निर्मला सीतारमण की मां सावित्रि एक गृहणी थीं। निर्मला सीतारमण ने तिरुचिरापल्ली के सीतालक्ष्मी रामास्वामी कॉलेज में अर्थशास्त्र की पढ़ाई की थी। इसके बाद उन्होंने दिल्ली के जेएनयू (JNU) से मास्टर्स और एम फिल की।

निर्मला सीतारमण की परकाला प्रभाकर से JNU में पढ़ाई के दौरान मुलाकात हुई थी और फिर दोनों एक-दूसरे से प्यार करने लगे। साल 1986 में दोनों ने शादी कर ली और उनकी बेटी बेटी पराकला वांगमयी हैं।

ऐसे शुरू हुआ करियर
शादी के बाद निर्मला अपने पति प्रभाकर के साथ लंदन में रहने चली गईं थी। उन्होंने वहां के रीजेंट स्ट्रीट में एक होम डेकोर स्टोर में सेल्स पर्सन का भी काम किया। इसके बाद कई दिनों तक बीबीसी वर्ल्ड सर्विस के साथ काम किया। बता दें कि निर्मला सीतारमण ने शोध प्रबंधक के रूप में ऑडिट फर्म प्राइसवाटरहाउसकूपर्स में भी काम किया था।

2008 में राजनीति में एंट्री
1990 के दशक की शुरुआत में निर्मला लंदन से भारत लौट आईं थी। सीतारमण राजनीतिक में आने से पहले हैदराबाद में सेंटर फॉर पब्लिक पॉलिसी स्टडीज के उप निदेशक के रूप में कार्य किया और शहर में एक स्कूल भी शुरू किया। 2003 से 2005 तक वह राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य भी रहीं।

इसके बाद 2008 में भाजपा से जुड़ीं और राजनीति में प्रवेश किया। दो साल में ही सुषमा स्वराज के बाद पार्टी की दूसरी महिला प्रवक्ता बन गईं थी। साथ ही टीवी पर बहस में भाजपा का जाना-पहचाना चेहरा बन गईं।

निर्मला सीतारमण 2014 में मोदी सरकार में वित्त राज्य मंत्री बनीं और फिर 2017 में देश की रक्षा मंत्री बनीं। इतना ही नहीं, 2019 में केंद्रीय वित्त मंत्री भी बनी थीं।



और भी पढ़ें :