मानसून मेहरबान, महाराष्‍ट्र, मप्र, राजस्थान समेत कई राज्यों में भारी बारिश, मुसीबत भी बढ़ी

Last Updated: मंगलवार, 5 जुलाई 2022 (19:12 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। महराष्ट्र, मध्यप्रदेश, राजस्थान, कर्नाटक, गुजरात समेत कई राज्यों में मानसून के मेहरबान होने से भारी बारिश हुई है। पिछले 24 घंटों के दौरान, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप, पूर्वी और दक्षिण पूर्व मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, विदर्भ, मराठवाड़ा, दक्षिण कोंकण और गोवा तथा तटीय कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश हुई, जबकि कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। छत्तीसगढ़, आंतरिक ओडिशा और तटीय आंध्रप्रदेश में भी कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई है।


में भारी बारिश के आसार : यूं तो के ज्यादातर इलाकों में बारिश हो रही है, लेकिन मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में मंगलवार को सुबह भारी बारिश हुई। वहीं, मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में मुंबई और उसके उपनगरों में मध्यम से भारी बारिश होने का पूर्वानुमान लगाया है। पूरे महाराष्ट्र में एनडीआरएफ की 8 टीमें तैनात की गई हैं।

नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि मंगलवार को सुबह 8 बजे तक पिछले 24 घंटे में शहर में औसतन 95.81 मिमी बारिश हुई, जबकि इसी अवधि के दौरान पूर्वी तथा पश्चिमी उपनगरों में क्रमशः 115.09 मिमी और 116.73 मिमी वर्षा हुई। हालांकि मुंबई की लोकल ट्रेन सेवाएं मध्य रेलवे तथा पश्चिम रेलवे दोनों मार्गों पर सामान्य रूप से चल रही हैं। मुंबई और पड़ोसी जिलों के 75 लाख से अधिक यात्री प्रतिदिन लोकल ट्रेन में यात्रा करते हैं।
कोंकण में ऑरेंज अलर्ट : मौसम विभाग ने कोंकण में 5 दिन तक के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। एनडीआरएफ की एक टीम को रत्नागिरी जिले के चिपलून में जबकि दूसरी टीम को रायगढ़ जिले के महाड में तैनात किया गया है। मौसम विभाग ने 4 जुलाई से 8 जुलाई के बीच अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश की भविष्यवाणी करते हुए, रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किए हैं।
ठाणे में पहाड़ी से गिरे पत्थर : ठाणे जिले में भारी बारिश के बाद एक पहाड़ी से बड़े-बड़े पत्थर गिरने लगे, जबकि पड़ोसी पालघर जिले में एक कच्चा मकान ढह गया। अधिकारियों ने बताया कि दोनों जिलों के कुछ हिस्सों में भारी बारिश के कारण बाढ़ आने का खतरा है, जिसके मद्देनजर कई लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।
मप्र में बारिश ने बिगाड़ा चुनावी गणित : में निकाय चुनावों के लिए 6 जुलाई को होने वाले मतदान से पहले 5 जुलाई को इंदौर, भोपाल समेत अन्य स्थानों पर तेज बारिश हुई। इंदौर में थोड़ी देर में ही 2 इंच से ज्यादा बारिश हो गई। इसके चलते जगह-जगह सड़कों पर पानी भर गया। ट्रैफिक रेंगने लगा, लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। राज्य के अन्य इलाकों में भी बारिश के समाचार हैं। चुनावी व्यवस्थाओं पर भी बारिश का असर देखने को मिला है।

मध्यप्रदेश में भारी बारिश के कारण भोपाल-नागपुर हाईवे बंद हो गया। सुखतवा पुल पर डेढ़ फुट पानी जमा हो गया। मध्यप्रदेश में ज्यादातर इलाकों में नदी-नाले उफान पर हैं। मौसम विभाग ने इंदौर-उज्जैन समेत 16 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

में भारी बारिश की चेतावनी : राजस्थान के कई इलाकों में का दौर जारी है। कई इलाकों में जबर्दस्त बारिश हुई है, जबकि कुछ इलाकों में मध्यम बारिश होने के समाचार हैं। बारिश का यह दौर इस सप्ताहांत तक जारी रहने का अनुमान है। कुछ जगहों पर भारी व बेहद भारी बारिश हो सकती है।
छह जुलाई को कई जिलों में भारी बारिश के अनुमान को देखते हुए यलो अलर्ट जारी किया गया है, जबकि राजसमंद, नागौर और पाली में कहीं-कहीं भारी से अति भारी बारिश होने की आशंका के मद्देनजर ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। यह चेतावनी 7 और 8 जुलाई को कई और जिलों के लिए भी जारी की गई है।
गोवा में बाढ़ : गोवा में सोमवार को हुई भारी बारिश के कारण कई निचले इलाकों में पानी भर गया और प्रमुख स्वास्थ्य प्रतिष्ठान जीएमसीएच के पास जलजमाव से मरीजों तथा उनके परिजनों को परेशानी का सामना करना पड़ा। राजधानी पणजी के पट्टो इलाके में भी बारिश की वजह से यातायात जाम की स्थिति बन गई। आने वाले तीन-चार दिनों में उत्तर और दक्षिण गोवा में बारिश संबंधी गतिविधियों में बढ़ोतरी की वजह से दोनों जिलों में अलग-अलग स्थानों पर बहुत भारी बारिश हो सकती है।
अमरनाथ यात्रा रुकी : दूसरी ओर जम्मू कश्मीर में भारी बारिश के कारण अमरनाथ यात्रा पर भी असर हुआ है। भारी बारिश के चलते पहलगाम मार्ग से यात्रा को रोक दिया गया है। बताया जा रहा है कि भूस्खलन की आशंका के चलते नुनवान कैंप में 3000 यात्रियों को रोका गया है।
गुजरात और कर्नाटक में भी बारिश : मानसून सक्रिय होने के बाद कर्नाटक, केरलऔर गुजरात के बड़े हिस्से में बारिश हुई है। गुजरात के सूरत, आणंद, वडोदरा आदि क्षेत्रों में काफी बारिश हुई है। दूसरी ओर, राजधानी दिल्ली में मंगलवार को न्यूनतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हालांकि मौसम विभाग ने दिन में सामान्य तौर पर बादल छाए रहने के साथ मध्यम बारिश का अनुमान जताया है।




और भी पढ़ें :