MI-17V-5 से सफर कर रहे थे CDS बिपिन रावत, जानिए कितना सुरक्षित है यह हैलीकॉप्टर...

Last Updated: बुधवार, 8 दिसंबर 2021 (15:57 IST)
कुन्नूर। तमिलनाडु के कुन्नूर में भारतीय सेना का क्रैश हो गया है। इसमें चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत समेत करीब 14 लोग मौजूद थे। वायुसेना के MI-17V-5 हेलीकॉप्टर को बेहद सुरक्षित माना जाता है। इस हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल वीवीआईपी मूवमेंट के लिए भी किया जाता है। राष्‍ट्रपति, प्रधानमंत्री, सेना प्रमुख समेत तमाम दिग्गज इस हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल करते हैं।

रूस में निर्मित MI17 V5 हेलीकॉप्टर आधुनिक तकनीकों से लैस है। यह दुनिया के सबसे उन्नत परिवहन हेलीकॉप्टर में से एक है। इसकी तैनाती सेना और आर्म्स ट्रांसपोर्ट के लिए की जाती है। सर्च ऑपरेशनों, पेट्रोलिंग, राहत एवं बचाव अभियानों में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।
MI17 V5 हेलीकॉप्टर में S8 रॉकेट, 23 mm मशीनगन, PKT मशीन गन, AKM सब मशीन गन से लैस है।
यह 6000 मीटर की अधिकतम ऊंचाई तक पहाडी़ और दुर्गम इलाकों में भी उड़ान भरने में सक्षम इस हेलीकॉप्टर की अधिकतम रफ्तार 250 किमी/घंटा है। यह कठिन परिस्थितियों में भी उड़ान भरने में सक्षम है। एक बार ईधन भरने के बाद ये विमान 580 किलोमीटर की दूरी पूरी कर सकता है। इसमें 2 सहायक टैंक भी शामिल है। यह हेलीकॉप्टर सेना के कई महत्वपूर्ण अभियानों का हिस्सा भी रहा है।
इस हेलीकॉप्टर का केबिन काफी बड़ा है और इसमें 12.5m² का फ्लोर एरिया और 23m³ का स्पेस है। इसमें पोर्टसाइड दरवाजा और पीछे की तरफ जाने वाला रैंप सैनिकों और कार्गों के प्रवेश के लिए सुविधाजनक है। इसमें नेविगेशन, सूचना-डिस्प्ले और क्यूइंग सिस्टम भी है। इसका टेक ऑफ वजन 13,000 किलोग्राम है। यह 36 सैनिकों या 4500 किलोग्राम भार के साथ उड़ान भर सकता है।



और भी पढ़ें :