कश्मीर में प्रिंसिपल और टीचर के बाद कश्मीरी पंडित को ऑफिस में घुसकर मार डाला

सुरेश एस डुग्गर| पुनः संशोधित गुरुवार, 12 मई 2022 (20:18 IST)
हमें फॉलो करें
जम्मू। आतंकियों ने बडगाम जिले में गुरुवार को तहसीलदार कार्यालय में घुसकर कर्मचारी को गोली मारकर हत्या कर दी। यह पहला मौका था कि आतंकियों ने किसी में घुसकर इस तरह से किसी सरकारी कर्मचारी की हत्या की हो। हालांकि पिछले साल उन्होंने एक स्कूल में घुसकर प्रिंसिपल और टीचर को मार डाला था।

अधिकारियों ने बताया कि गोली लगने से कर्मचारी लहूलूहान होकर जमीन पर गिर पड़ा। अचानक हुई दफ्तर में फायरिंग से कर्मचारियों में भगदड़ मच गई। आतंकियों के मौके से फरार होने के बाद अन्य ने घायल कर्मचारी राहुल भट्ट को स्थानीय अस्पताल पहुंचाया।



इसके बाद उन्हें श्रीनगर रेफर कर दिया गया। जहां उन्होंने कुछ देर चले उपचार के बाद दम तोड़ दिया। आतंकी वारदात के बाद सुरक्षाबल तहसीलदार कार्यालय में पहुंचे। इसके बाद उन्होंने पूरे इलाके में तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि दहशतगर्दों की तलाश की जा रही है। फिलहाल पुलिस और सुरक्षाबलों ने आतंकियों की धरपकड़ के लिए तलाशी अभियान छेड़ दिया है।
जानकारी के लिए श्रीनगर के डाउनटाउन इलाके में आतंकियों ने 7 अक्टूबर की सुबह 2 नागरिकों की गोली मारकर हत्या कर दी। वे दोनों ईदगाह हायर सेकंडरी स्कूल के शिक्षक थे। उनमें एक कश्मीरी सिख था और एक जम्मू का रहने वाला हिन्दू था।


पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने कहा कि यह स्थानीय मुस्लिमों को बदनाम करने की साजिश है। कश्मीर के सांप्रदायिक सौहार्द्र को खत्म करने की साजिश के तहत निहत्थे नागरिकों को मारा जा रहा है। इससे आतंकियों की निराशा और क्रूरता साफ झलक रही है। आंतकी कश्मीर में अमन-चौन और भाईचारे को खत्म करना चाहते हैं, लेकिन हम उनके मंसूबे कामयाब नहीं होने देंगे।



और भी पढ़ें :