Jammu Kashmir Terrorist Attack : टारगेट किलिंग के बीच इमरजेंसी एडवाइजरी, गैर कश्मीरियों को सेना और पुलिस कैंप में शिफ्ट किया जाएगा

Last Updated: रविवार, 17 अक्टूबर 2021 (23:12 IST)
श्रीनगर। दो और गैर स्थानीय लोगों की हत्या के बाद पुलिस ने अपने सभी जिला प्रमुखों से कहा कि वे गैर स्थानीय मजदूरों को एकत्र करें और ‘तत्काल’ उन्हें नजदीकी सुरक्षा शिविरों में लाएं। यह बड़ा फैसला आतंकवादियों द्वारा 2 मजूदरों की हत्या करने और दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में एक अन्य को गंभीर रूप से घायल करने के बाद उठाया गया है।
ALSO READ:

क्या रद्द होगा भारत-PAK मैच? जम्मू-कश्मीर में आतंकी घटनाओं के बीच केंद्रीय मंत्री का बड़ा बयान
सभी जिला पुलिस प्रमुखों को भेजे संदेश में पुलिस महानिरीक्षक (कश्मीर रेंज) विजय कुमार ने कहा कि आपके न्यायाधिकार क्षेत्र में रह रहे सभी गैर स्थानीय मजदूरों को तत्काल नजदीकी पुलिस थाने या केंद्रीय अर्धसैनिक बल या सेना के प्रतिष्ठानों में लाया जाना चाहिए।
संदेश में कहा गया कि यह मामला अतिआवश्यक है। लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने प्रवासी नागरिकों पर हमले करते हुए 2 और बिहारी नागरिकों की हत्या कर दी है। तीसरा गंभीर रूप से जख्मी प्रवासी नागरिक भी बिहार का है। कल भी दो प्रवासी नागरिकों की आतंकियों ने हत्या कर दी थी।

पुलिस ने बताया कि आतंकियों ने आज देर शाम दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में लारा गांजीपोरा गांव में प्रवासी श्रमिकों पर उस समय गोलियां बरसाईं जब वे एक किराए के मकान में रह रहे थे।

पुलिस ने बताया कि मारे गए दो बिहारी नागरिकों की पहचान राजा रिषीदेव और जोगिन्द्र रिषीदेव के तौर पर की गई है जबकि तीसरे घायल की पहचान चुनचुन रिषी देव के रूप में हु्ई है। वह भी बिहार का रहने वाला था।

तीनों एक ही कमरे में रहते थे। आतंकियों ने इस माह में अभी तक 12 नागरिकों को मार डाला है। इनमें 8 अल्पसंख्यक समुदाय के थे और पांच प्रवासी नागरिक थे।



और भी पढ़ें :