ITBP के 60वें स्थापना दिवस पर पीएम मोदी ने जवानों को बधाई दी

पुनः संशोधित रविवार, 24 अक्टूबर 2021 (14:18 IST)
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के स्थापना दिवस पर रविवार को बल के कर्मियों को बधाई दी और कहा कि जब भी देश को उनकी जरूरत पड़ी उन्होंने अदम्य साहस व समर्पण के साथ जवाब दिया।

बल के कर्मियों को बधाई देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आपदा के समय बल की ओर से किए गए मानवीय कार्य सराहनीय हैं।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, बीएसएफ इंडिया समेत कई लोगों ने आईटीबीपी के कार्यों की सराहना करते हुए स्थाप‍ना दिवस की बधाई दी।

की स्थापना चीन के साथ 1962 के युद्ध के बाद की गई थी और इसमें करीब 90,000 जवान हैं। आईटीबीपी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPF) की 5 शाखाओं में से एक है। यह उत्तरी सीमाओं पर निगरानी रखता है और सीमा उल्लंघन को रोकता है। यह अवैध आव्रजन, सीमा पार से तस्करी इत्यादी की निगरानी करता है और देश में शांति बनाए रखने में अहम भूमिका का निर्वाह करता है।
केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बल आईटीबीपी के जवान 3,488 किलोमीटर लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) की सुरक्षा के अपने प्राथमिक उद्देश्य के तहत सेना के जवानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर तैनात हैं।

केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बल आईटीबीपी के जवान 3,488 किलोमीटर लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) की सुरक्षा के अपने प्राथमिक उद्देश्य के तहत सेना के जवानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर तैनात हैं।
पिछले साल मई-जून में पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन के साथ हुई हिंसक झड़प और दोनों देशों के बीच जारी सैन्य गतिरोध के दौरान असाधारण वीरता तथा अदम्य साहस का परिचय देने वाले भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के 20 जवानों को पुलिस वीरता पदकों से अलंकृत (सम्मानित) किया गया है।



और भी पढ़ें :