क्या मध्यप्रदेश भाजपा शासित राज्य नहीं है? अमित शाह ने ऐसा ही कुछ कहा है...

पुनः संशोधित गुरुवार, 5 मई 2022 (19:37 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। केन्द्रीय गृहमंत्री की मानें तो मध्यप्रदेश भाजपा शासित राज्य नहीं है। दरअसल, शाह ने सिलीगुड़ी में कहा कि देश में पेट्रोल का दाम 115 रुपए प्रतिलीटर यदि कहीं है तो वह है। जहां भाजपा की सरकारें हैं वहां पेट्रोल 105 रुपए प्रतिलीटर मिलता है। दरअसल, मप्र में तो पेट्रोल 115 रुपए प्रतिलीटर से ज्यादा दाम पर बिक रहा है।


एएनआई ट्‍वीट के मुताबिक अमित शाह ने कहा- पूरे देश में बिजली का दाम सबसे ज्यादा बंगाल में है। देश में पेट्रोल का दाम 115 रुपए अगर कहीं है तो बंगाल में है। जहां बीजेपी की सरकार है वहां पेट्रोल 105 रुपए में मिलता है। इसमें कोई संदेह नहीं कि उत्तर प्रदेश, गुजरात, गोवा और उत्तराखंड में पेट्रोल के दाम 105 रुपए प्रतिलीटर के आसपास हैं। हरिद्वार में तो पेट्रोल 102 रुपए के आसपास है।
यदि हम के शहरों में पेट्रोल के दामों पर नजर डालें तो शाह का यह दावा कहीं नहीं ठहरता। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल एवं औद्योगिकी नगरी इंदौर में पेट्रोल के दाम 118 रुपए से ज्यादा हैं। मप्र के ही अनूपपुर पेट्रोल 120 रुपए के आसपास है।
वहीं, भाजपा शासित एक अन्य राज्य कर्नाटक को देखें तो यहां पेट्रोल के दाम बंगाल से तो कम हैं, लेकिन शाह के दावे (105) से काफी ज्यादा हैं। कर्नाटक के दावणगेरे में पेट्रोल 112 रुपए जबकि बेंगलोर में 111 रुपए के आसपास बिक रहा है।

नहीं सुधर रहीं ममता दीदी : अमित शाह ने कहा कि ममता दीदी आपको 3 बार चुनने के बाद भी आप नहीं सुधर रही हैं। जब तक आप बंगाल की जनता पर अत्याचार, भ्रष्टाचार, कटमनी और सिंडिकेट का राज खत्म नहीं करेंगी तब तक भाजपा अपनी लड़ाई चालू रखेगी।

उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद यहां जो हिंसा हुई उसके बाद मानवाधिकार आयोग ने कहा कि बंगाल में कानून का राज नहीं है बल्कि यहां जो सत्ता में है, उनकी इच्छा का राज है। यहां 101 लोगों की हत्या कर दी गई, 1829 लोग घायल हुए और 161 से ज्यादा मुकदमों में टीएमसी के गुंडे अपराधी पाए गए।
शाह ने कहा कि ममता दीदी ने बंगाल को आर्थिक रूप से कंगाल कर दिया है। 1947 में बंगाल का देश की जीडीपी में 30% हिस्सा था जो 2022 में घटकर 3.3% कर दिया गया। ममता दीदी क्या आप बंगाल की जनता को जवाब देंगी? उन्होंने कहा कि देशभर में कुछ भी होता है तो ममता दीदी टीएमसी का डेलीगेशन भेजती हैं। बीरभूम में 8 महिलाओं और 1 बच्चे को जिंदा जला दिया गया, वहां आपने डेलीगेशन क्यों नहीं भेजा दीदी? बीरभूम वाले आपके लोग नहीं हैं क्या?
...और यह ममता का पलटवार : पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ने कहा कि शाह गृहमंत्री है इसलिए उनको दिल्ली देखना चाहिए। दिल्ली के जहांगीरपुरी, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में क्या हुआ, उनको वो देखना चाहिए। उनके पास बंगाल नहीं है, इसलिए बंगाल के बारे में उन्हें ऐसी बात नहीं करनी चाहिए। बीजेपी का काम विभाजन पैदा करना है।



और भी पढ़ें :