क्रूड की कीमतों में आए उछाल से पेट्रोलियम कंपनियों पर बढ़ा दबाव, दोबारा कीमतें बढ़ने की आशंका

Last Updated: बुधवार, 25 मई 2022 (10:32 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्‍ली। केंद्र सरकार ने एक तरफ पेट्रोल-डीजल पर टैक्‍स घटाकर जनता को बड़ी राहत दी है तो दूसरी ओर क्रूड की बढ़ती कीमतें पेट्रोलियम कंपनियों पर दोबारा कीमतें बढ़ाने का दबाव डालने लगी हैं। हालांकि सरकारी पेट्रोलियम कंपनियों ने बुधवार को जारी कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया है।

वैश्विक मार्केट में आज बुधवार सुबह ब्रेंट क्रूड का भाव 114 डॉलर से भी ऊपर निकल गया है। मुख्‍य आर्थिक सलाहकार भी पहले ही कह चुके हैं कि अगर कच्‍चा तेल 110 डॉलर से ऊपर रहता है तो पेट्रोल-डीजल के दाम फिर बढ़ने शुरू हो जाएंगे। हालांकि कंपनियों ने 6 अप्रैल के बाद से कीमतों में कोई वृद्धि नहीं की है। इससे पहले 23 मार्च से अप्रैल के पहले सप्‍ताह तक पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 14 बार बढ़ोतरी की गई और इस दौरान 10.20 रुपए प्रति लीटर कीमत बढ़ गई।
देश के 4 महानगरों में दिल्ली में पेट्रोल 96.72 और डीजल 89.62, में पेट्रोल 109.27 और डीजल 95.84, में पेट्रोल 102.63 और डीजल 94.24 और कोलकाता में पेट्रोल 106.03 रुपए और डीजल 92.76 रुपए प्रति लीटर के भाव रहा। इसी प्रकार नोएडा में पेट्रोल 96.79 और डीजल 89.96, लखनऊ में पेट्रोल 96.57 और डीजल 89.76, पटना में पेट्रोल 107.24 और डीजल 94.04 और पोर्टब्‍लेयर में पेट्रोल 84.10 रुपए और डीजल 79.74 रुपए प्रति लीटर हो गया है।
रोजाना सुबह 6 बजे पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। सुबह 6 बजे से ही नई दरें लागू हो जाती हैं। पेट्रोल व डीजल के दामों में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम लगभग दोगुना हो जाता है।



और भी पढ़ें :