सुकन्या समृद्धि योजना पर केंद्र सरकार ने दिया बड़ा झटका

Last Updated: शनिवार, 29 जून 2019 (12:18 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। सरकार ने योजनाओं पर आम लोगों को बड़ा झटका दिया है। कई लघु बचतों में ब्याज की दर को घटा दिया गया है। सुकन्या समृद्धि खाते पर अब 8.4 प्रतिशत ब्याज मिलेगा, जो फिलहाल 8.5 प्रतिशत है।

राष्ट्रीय बचत प्रमाण-पत्र (NSC) और लोक भविष्य निधि (PPF) समेत अन्य छोटी बचत पर सरकार ने शुक्रवार को जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए 0.1 प्रतिशत कम कर दी।

बैंकिंग क्षेत्र में ब्याज दरों में आ रही कमी को देखते हुए सरकार ने यह कदम उठाया है। भारतीय रिजर्व बैंक इस साल 3 बार में अपनी नीतिगत दरों में कुल मिलाकर 0.75 कटौती कर चुका है।
बचत खाता जमा पर ब्याज दर को छोड़कर सरकार ने अन्य सभी योजनाओं पर ब्याज दर में 0.1 प्रतिशत की कमी की है। बचत जमा खाते पर ब्याज दर 4 प्रतिशत वार्षिक ही बनी रहेगी।

वित्त मंत्रालय ने वित्त वर्ष 2019-20 की दूसरी तिमाही के लिए संशोधित ब्याज दरों की अधिसूचना जारी कर दी है। सरकार के निर्णय के आधार पर लघु बचत योजनाओं के लिए तिमाही आधार पर ब्याज दरें अधिसूचित की जाती है।
इस कटौती के बाद अब पीपीएफ एवं एनएससी पर वार्षिक ब्याज दर 7.9 प्रतिशत होगी जो अभी 8 प्रतिशत है, वहीं 113 महीने की परपक्वता वाले किसान विकास पत्र (केवीपी) पर 7.6 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा। अभी यह 112 महीने की परिपक्वता पर 7.7 प्रतिशत है। सुकन्या समृद्धि खाते पर अब 8.4 प्रतिशत ब्याज मिलेगा जो फिलहाल 8.5 प्रतिशत है।

1 से 3 वर्ष की अवधि वाले सावधि जमा पर अब 6.9 प्रतिशत और 5 वर्ष की अवधि पर 7.7 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलेगा। आवर्ति जमा के लिए यह ब्याज 7.3 प्रतिशत के बजाय 7.2 प्रतिशत होगा। 5 साल की अवधि वाली वरिष्ठ नागरिक बचत योजना पर ब्याज दर अब 8.7 प्रतिशत की बजाय 8.6 प्रतिशत होगी।



और भी पढ़ें :