Omicron Effect: दक्षिण अफ्रीका से मुंबई आने वाले यात्री होंगे क्वारंटाइन

Last Updated: शनिवार, 27 नवंबर 2021 (16:59 IST)
मुंबई। दक्षिण अफ्रीका में (Coronavirus) के नए वैरिएंट (Omicron) के सामने आने के बाद पूरी दुनिया सतर्क हो गई है। भारत में भी इसको लेकर अतिरिक्त ऐहतियात बरती जा रही है।


की मेयर के किशोरी पेडनेकर ने कहा है कि दक्षिण अफ्रीका से मुंबई आने वाले यात्रियों को अनिवार्य रूप से क्वारंटाइन किया जाएगा। इसके साथ ही यदि अफ्रीका से आने वाला कोई व्‍यक्ति कोरोना से संक्रमित पाया जाता है तो उसकी जीनोम सीक्‍वेंसिंग की जाएगी।

पेडनेकर ने कहा कि नए वैरिएंट को लेकर मुंबई में भी चिंता है। इसी‍ के चलते अफ्रीका से आने वाले ऐसे यात्री जो कोरोना पॉजिटिव पाए जाते हैं, उनकी जीनोम सीक्‍वेंसिंग की जाएगी। उन्होंने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और मास्क पहनने की अपील की है। हालांकि उन्होंने कहा कि उड़ानों पर किसी भी तरह का प्रतिबंध नहीं है।
उल्लेखनीय है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की एक सलाहकार समिति ने दक्षिण अफ्रीका में पहली बार सामने आए कोरोनावायरस (Coronavirus) के नए प्रकार को 'बेहद तेजी से फैलने वाला चिंताजनक प्रकार' करार दिया है। ग्रीक वर्णमाला के तहत इसे 'ओमीक्रॉन' नाम दिया है।

जीनोम सीक्वेंसिंग क्या होती है : जीनोम सीक्वेंसिंग (genome sequencing) एक तरह से किसी वायरस (Virus) का बायोडेटा होता है। कोई वायरस कैसा है, किस तरह दिखता है इसकी जानकारी जीनोम से मिलती है। वायरस के विशाल समूह को जीनोम कहा जाता है और वायरस के बारे में जानने की विधि को जीनोम सीक्वेंसिंग कहा जाता है। इसी विधि से कोरोना के नए स्ट्रेन के बारे में पता चला है।



और भी पढ़ें :