UP गेट पर उग्र हुए किसान, कृषि कानूनों के खिलाफ अन्नदाता का ब्लैक डे

पुनः संशोधित बुधवार, 26 मई 2021 (13:36 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के चलते पिछले कुछ समय सुस्त पड़े किसान आंदोलन में बुधवार यानी 26 मई को थोड़ी गर्मी देखने को मिली। आज किसान काला दिवस (Black Day) मना रहे हैं। खबर है कि पर प्रदर्शन के दौरान किसान उग्र हो गए।


उल्लेखनीय है कि किसान आंदोलन के 6 माह पूरे हो गए हैं। इसी के चलते किसान आज ब्लैक डे मना रहे हैं। गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों के हंगामे के चलते पुलिस-प्रदर्शनकारियों के बीच मामूली झड़प हो गई। किसान कई स्थानों पर काला दिवस मना रहे हैं।

इस बीच, दिल्ली से लगी सभी सीमाओं पर पुलिस का सख्त पहरा है। सिंघू बॉर्डर पर भी प्रदर्शनकारियों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया। बड़ी संख्या में लोग वहां जमा हुए हैं। हालांकि यह भी देखने में आया कि प्रदर्शनकारी किसान मास्क नहीं लगाए हुए थे। प्रदर्शनकारी काले कपड़े, झंडे और पगड़ी पहनकर काला दिवस मना रहे हैं।

दूसरी ओर, किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि तीनों काले कानून किसानों के खिलाफ हैं। उन्होंने कहा कि महामारी में कानून आ सकता है तो फिर वापस क्यों नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि कोरोना प्रोटोकॉल के साथ जारी रहेगा। टिकैत ने कहा- जो किसान जहां हैं, वहीं ब्लैक डे मनाएं। मगर गाजीपुर बॉर्डर पर भीड़ जुटने लगी और किसानों ने हंगामा करना शुरू कर दिया।




और भी पढ़ें :