पुंछ के जंगलों में पाक कमांडो और स्नाइपरों से हो रहा है मुकाबला?

Kashmir
सुरेश एस डुग्गर| पुनः संशोधित रविवार, 17 अक्टूबर 2021 (11:17 IST)
जम्मू। पुंछ के जंगलों में पिछले 7 दिनों से भारतीय सेना के 10 हजार जवानों का मुकाबला पाक सेना के दर्जनभर एसएसजी कमाडों तथा स्नाइपरों से हो रहा है। उनके साथ दर्जनभर अति प्रशिक्षित आतंकी भी हैं। सूत्रों से मिली इस जानकारी की हालांकि सेना ने इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की है।

खुफिया अधिकारी कहते थे कि हिलकाका में भट्टीधार मुठभेड़ के बाद पहली बार पुंछ के जंगलों में चलने वाली इतनी लंबी मुठभेड़ में सेना ने पहली बार अपने 9 अधिकारियों व जवानों को खोया है। खुफिया अधिकारियों के दावे उन लोगों से पूछताछ पर आधारित बताए जाते हैं जिन्हें इस मुठभेड़ के दौरान आतंकियों को कथित तौर पर शरण देने के आरोपों में पकड़ा गया है।

यह सच है कि एक लंबे अरसे के बाद जम्मू कश्मीर में आतंकियों के साथ होने वाली जंग इतनी लंबी चली है। इस जंग की खास बात यह है कि पहली बार के इतिहास में मुठभेड़ के दौरान सेना के दो जवान लापता हो गए और बाद में उनके मिले शवों को देखते हुए यह कहा जा रहा था कि आतंकियों में तथा कमांडों भी शामिल हैं।
सेनाधिकारी फिलहाल मामले पर अधिक कुछ नहीं बोलते थे क्योंकि किसी मुठभेड़ में इतनी क्षति उठाने के बाद सेना अब हर हथकंडा अपना कर आतंकियों को ढेर देना चाहती है। दबे स्वर में इसे माना भी जा रहा है कि आतंकी अति प्रशिक्षित हैं और उनके साथ पाक सेना के कुछ लोग भी हो सकते हैं।
दावा यह किया जा रहा है कि करीब दर्जन भर पाक सेना के एसएसजी कमांडों आतंकियों के साथ भारतीय सेना का मुकाबला कर रहे हैं। वैसे यह कोई पहली घटना नहीं है जिसमें पाक सेना ने आतंकियों के साथ अपने कमांडों को भी इस ओर धकेला हो।



और भी पढ़ें :