कांग्रेस ने की ट्विटर से 11 केंद्रीय मंत्रियों के ट्वीट को 'मैनिपुलेटेड मीडिया' करार देने की मांग

Last Updated: बुधवार, 26 मई 2021 (00:06 IST)
नई दिल्ली। ने कथित 'कोविड टूलकिट' मामले में मंगलवार को 11 केंद्रीय मंत्रियों के ट्वीट का हवाला देते हुए माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट से आग्रह किया कि इन नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाए और उनके ट्वीट को भी 'मैनिपुलेटेड मीडिया' (छेड़छाड़ किया हुआ) करार दिया जाए।
ALSO READ:

महामारी की दूसरी लहर के पीछे चीन के हाथ का संदेह जताकर घिरे भाजपा महासचिव विजयवर्गीय

मुख्य विपक्षी पार्टी ने केंद्रीय मंत्रियों- गिरिराज सिंह, पीयूष गोयल, स्मृति ईरानी, रविशंकर प्रसाद, प्रह्लाद जोशी, धर्मेंद्र प्रधान, रमेश पोखरियाल निशंक, थावरचंद गहलोत, हर्षवर्धन, मुख्तार अब्बास नकवी और गजेंद्र सिंह शेखावत के ट्वीट के यूआरएल ट्विटर इंडिया के प्रबंधन को एक पत्र के माध्यम से भेजे हैं और कार्रवाई की की है।


इस बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कथित 'कोविड टूलकिट' मामले में दिल्ली पुलिस की ओर से माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर के कार्यालयों पर छापा मारे जाने के एक दिन बाद मंगलवार को कहा कि 'सत्य डरता नहीं' है। उन्होंने 'हैशटैग टूलकिट' के साथ ट्वीट किया कि 'सत्य डरता नहीं'।


कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्विटर प्रबंधन को भेजे पत्र में कहा कि 'फर्जी सामग्री' को प्रसारित करने के लिए ट्विटर के मंच का दुरुपयोग करने और 'मैनिपुलेटेड मीडिया' के दूसरे मामलों में कार्रवाई का जो मापदंड अपनाया जाता है, वही इन मंत्रियों के ट्वीट के मामलों में भी अपनाया जाए।
फिलहाल इन वरिष्ठ मंत्रियों और भाजपा की तरफ से कांग्रेस के इस कदम पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। सुरजेवाला ने बाद में एक वीडियो जारी कर भाजपा के वरिष्ठ नेताओं और मंत्रियों के 'झूठ का पर्दाफाश' होने का दावा किया और कहा कि कथित टूलकिट' से संबंधित इनके ट्वीट को 'मैनिपुलेटेड मीडिया' करार दिया जाए।

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह ट्विटर ने कथित 'कोविड टूलकिट' से संबंधित भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के ट्वीट को 'छेड़छाड़ किया हुआ' बताया था। भाजपा का आरोप है कि कांग्रेस ने एक टूलकिट' बनाकर कोरोनावायरस के नए स्वरूप को 'भारतीय स्वरूप' या 'मोदी स्वरूप' बताया और देश तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की छवि खराब करने का प्रयास किया। हालांकि कांग्रेस ने आरोपों को खारिज करते हुए दावा किया था कि भाजपा उसे बदनाम करने के लिए फर्जी 'टूलकिट' का सहारा ले रही है। कांग्रेस ने भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ पुलिस में 'जालसाजी का मामला भी दर्ज कराया है। (भाषा)



और भी पढ़ें :