अगले 50 वर्षों तक नहीं होगी कोयले की किल्लत, यहां मिला 30 लाख टन कोयला

पुनः संशोधित शुक्रवार, 24 जून 2022 (16:08 IST)
हमें फॉलो करें
Photo - social media
भरूच। गुजरात के भरूच में कोयले के बड़े भंडार मिले हैं। भरूच जिले के पास वालिया तहसील में राज्य के ज्ञात कोयला भंडारों से अलग और उच्चस्तरीय गुणवत्ता वाला कोयला मिला है। विशेषज्ञों का अनुसार ये कोयला आने वाले 50 वर्षों तक देश की कोयले की जरूरतों को पूरा करने में सक्षम है।

बता दें कि गुजरात के भरूच जिले के निकट पहले से ही कई लाख टन कोयले की खदानें मौजूद हैं, जहां से कई सालों से कोयला निकाला जा रहा है। इस क्षेत्र में गर्मी अधिक होने के कारण श्रमिकों को कोयला निकालने में कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

भरुच के नजदीक वालिया तहसील में लिग्नाइट (Lignite) कोयले के भंडार मिले हैं, जिसमें कार्बन की मात्रा 65 से 70% तक होती है। इस तरह के कोयले को जलाने पर कम आग निकलती है और इसमें नमी की मात्रा भी ज्यादा होती है। लिग्नाइट कोयले का इस्तेमाल ज्यादातर बिजली के उत्पादन में किया जाता है।

जानकारी के मुताबिक वालिया तहसील के आस-पास के 18 गांवों के गर्भ में यह कोयला दबा हुआ है। अब कोयला मंत्रालय द्वारा भूमि अधिग्रहण की तैयारी की जा रही है। इलाके के भौगोलिक सर्वेक्षण के आधार पर सरकार इन भंडारों में से हर साल 30 लाख टन कोयला निकालने की इजाजत दे सकती है। इतना कोयला आने वाले 50 वर्षों तक देश की कोयले की जरुरत पूरी कर सकता है।





और भी पढ़ें :