'वनवासियों को ईसाई बनाकर बंदूक थमा दी जाती है'

पुनः संशोधित सोमवार, 22 दिसंबर 2014 (08:51 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। धर्म परिवर्तन पर विश्व हिंदू परिषद के नेता और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख ने कड़ा रुख अपनाते हुए 'घर वापसी' का पुरजोर समर्थन किया है।
अशोक सिंघल ने कहा है कि जंगल में रहने वाले लोगों को ईसाई बनाकर उनके हाथ में बंदूक थमा दी जाती है इसलिए ऐसे लोगों को वापस लाना जरूरी है।'
 
दिल्ली के रोहिणी में वनवासी रक्षा परिवार द्वारा आयोजित कुंभ कार्यक्रम में मौजूद सिंघल ने धर्म परिवर्तन के मुद्दे पर यह बात कही। इस कार्यक्रम में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत भी मौजूद थे। भागवत ने भी साफ कह दिया कि जो हो रहा है वह कतई गलत नहीं है।
 
दिल्ली में वनवासी रक्षा परिवार कुंभ कार्यक्रम में आरएसएस प्रमुख भागवत ने कहा, 'वनवासियों को ये अनुभव कराना होगा कि समाज उनके साथ खड़ा है। किसी को बुरा लगे तो लगे, हम अच्छा काम कर रहे हैं।'
 
इससे पहले कल अशोक सिंघल ने कहा था कि हम धर्म परिवर्तन के लिए नहीं, लोगों के दिल जीतने के लिए निकले हैं। इस्लाम और ईसाई जो कर रहे हैं उससे लग रहा है कि दुनिया युद्ध के सामने खड़ी है। अशोक सिंघल ने आरोप लगाया है कि इस्लाम, ईसाई और कम्युनिस्ट विश्व युद्ध के खिलाड़ी हैं। उन्होंने कहा कि हम इसमें शामिल नहीं हैं।'



और भी पढ़ें :