CDS जनरल बिपिन रावत का पार्थिव शरीर कल लाया जाएगा दिल्ली, जानें 10 अहम बातें

Last Updated: बुधवार, 8 दिसंबर 2021 (22:29 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। भारत के पहले प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (CDS) जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 11 अन्य सै‍न्यकर्मियों का तमिलनाडु के कुन्नूर में बुधवार को एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में निधन हो गया। इस दर्दनाक हादसे के बाद पूरा देश स्तब्ध है। 
 
1. भारतीय वायुसेना और अन्य अधिकारियों ने कहा कि 2019 में सीडीएस नियुक्त किए गए जनरल रावत और उनके दल को ले जा रहा हेलीकॉप्टर संभवत: धुंध वाली मौसमी परिस्थितियों में दुर्घटना का शिकार हुआ जिसमें 13 लोगों की जान चली गई। हादसे में कैप्टन वरुण सिंह बचे हैं और उनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। वायुसेना ने बताया कि इस दुर्घटना में डीएसएससी के डायरेक्टिंग स्टाफ ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह एससी घायल हैं और फिलहाल सैन्य अस्पताल, वेलिंगटन में उनका उपचार चल रहा है।
2. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कल संसद के दोनों सदनों में तमिलनाडु में हुई सैन्य हेलीकॉप्टर दुर्घटना पर बयान देंगे।
 
2. पुलिस और रक्षा सूत्रों ने बताया कि पीड़ितों के पार्थिव शरीर को कल सुबह कोयंबटूर से हवाई मार्ग से नई दिल्ली ले जाया जाएगा। इससे पहले कल वेलिंगटन में उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी। 
3. वायुसेना ने एक ट्वीट में कहा कि बहुत ही अफसोस के साथ इसकी पुष्टि हुई है कि दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना में जनरल बिपिन रावत, श्रीमती मधुलिका रावत और 11 अन्य की मृत्यु हो गई है। जनरल बिपिन रावत डिफेंस सर्विसेज स्टॉफ कॉलेज (डीएसएससी) जा रहे थे जहां उन्हें शिक्षकों एवं छात्रों को संबोधित करना था।
4. वायुसेना ने कहा कि एमआई-17वीएच हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हुआ है और इस हादसे के कारण का पता लगाने के लिए ‘कोर्ट ऑफ इंक्वायरी’ के आदेश दिए गए हैं। हेलीकॉप्टर ने कोयंबटूर के पास सुलुर वायुसेना अड्डे से उड़ान भरी थी। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि हेलीकॉप्टर ने सुबह करीब साढ़े 10 बजे उड़ान भरी थी और कुन्नूर दमकल केंद्र को 12 बजे घटना की सूचना मिली।
5. आधिकारिक सूत्रों और यहां के एक स्थानीय प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार कोहरे की स्थिति में हेलीकॉप्टर कम ऊंचाई पर उड़ रहा था, और यहां एक घाटी में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हेलीकॉप्टर पेड़ों से टकराते हुए जमीन पर गिरा और गिरते ही उसमें आग लग गई।
6. एक प्रत्यक्षदर्शी पेरुमल ने बताया कि हेलीकॉप्टर गिरते समय एक मकान से भी टकराया। हालांकि घर में हादसे के वक्त किसी के नहीं रहने से कोई हताहत नहीं हुआ लेकिन मकान को इससे नुकसान हुआ। उन्होंने बताया कि आग में झुलसे दो व्यक्ति हेलीकॉप्टर से नीचे गिर गए।
 
7. जनरल रावत और अन्य को लेकर हेलीकॉप्टर बुधवार सुबह करीब साढ़े दस बजे सुलूर वायुसेना स्टेशन से रवाना हुआ था और करीब एक घंटे बाद उधगमंडलम में वेलिंगटन स्थित डीएसएससी में उतरना था। हालांकि कुन्नूर दमकल केंद्र को दोपहर के करीब इस घटना को लेकर सूचना मिली। 
हेलीकॉप्टर नीलगिरि जिले के पर्वतीय क्षेत्र में कुन्नूर के निकट कातेरी-नंजप्पनचथिराम इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हुआ।
 
8. हेलीकॉप्टर वन क्षेत्र में दुर्घटनाग्रस्त हुआ जिससे पेड़ों को नुकसान पहुंचा और बाद में लगी आग के कारण वे जलकर राख हो गए। स्थानीय लोग घायलों को बचाने के लिए मदद के वास्ते सबसे पहले पहुंचे। हालांकि, वे आग की भीषण लपटों के कारण पीड़ितों की मदद नहीं कर सके और उन्होंने अधिकारियों को सूचित किया। यह त्रासदी और बड़ी हो सकती थी अगर हेलीकॉप्टर मानव बस्ती से कुछ दूर नही गिरा होता।
9. पुलिस और रक्षा सूत्रों ने कहा कि गुरुवार को मद्रास रेजिमेंट सेंटर (एमआरसी) में श्रद्धांजलि कार्यक्रम होगा जिसमें स्टालिन और वायुसेना प्रमुख वीआर चौधरी समेत अन्य शीर्ष अधिकारियों के शामिल होने की उम्मीद है। सूत्रों ने कहा कि श्रद्धांजलि कार्यक्रम के बाद शवों को कोयंबटूर ले जाया जाएगा जहां से उन्हें हवाई मार्ग से नई दिल्ली लाया जाएगा। (इनपुट भाषा)




और भी पढ़ें :