18 दिन में तकनीकी खराबी की 8 घटनाएं, स्पाइसजेट को DGCA का नोटिस

पुनः संशोधित बुधवार, 6 जुलाई 2022 (14:57 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। डीजीसीए (DGCA) ने पिछले 18 दिनों में तकनीकी खराबी की 8 घटनाओं के बाद स्पाइसजेट को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इस बीच, नागरिक उड्‍डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा सर्वोपरि है।


डीजीसीए ने कहा कि स्पाइसजेट एयरलाइन विमान नियम, 1937 के तहत सुरक्षित, दक्ष और विश्वसनीय हवाई सेवाओं को सुनिश्चित करने में नाकाम रही है।

डीजीसीए के मुताबिक सितंबर 2021 में स्पाइसजेट के ऑडिट में पाया गया कि कलपुर्जों के आपूर्तिकर्ताओं को नियमित आधार पर भुगतान नहीं किया जा रहा है, जिससे कलपुर्जों की कमी हो रही है। दूसरी ओर, नागरिक उड्डयन मंत्री सिंधिया ने स्पाइसजेट को जारी डीजीसीए के नोटिस पर कहा कि यात्रियों की सुरक्षा सर्वोपरि है।
रडार ने काम करना बंद किया : एयरलाइन ‘स्पाइसजेट’ ने बताया कि मौसम संबंधी रडार के काम ना करने की वजह से उसका एक मालवाहक विमान मंगलवार को कोलकाता लौट आया। चीन के चोंग्किंग शहर जा रहे विमान के पायलट को उड़ान भरने के बाद ही पता चल गया था कि उसका मौसम संबंधी रडार काम नहीं कर रहा है। हालांकि विमान कोलकाता में सुरक्षित उतर गया है। ‘स्पाइसजेट’ के विमान में तकनीकी खराबी का पिछले 18 दिन में सामने आया यह 8वां मामला है।
‘स्पाइसजेट’ के दिल्ली से दुबई जा रहे एक विमान को ईंधन संकेतक में खराबी के कारण मंगलवार को कराची की ओर मोड़ दिया गया था। वहीं, उसके कांडला से मुंबई जा रहे विमान को बीच हवा में ‘विंडशील्ड’ में दरार आने के बाद महाराष्ट्र की राजधानी में प्राथमिकता के आधार पर उतारा गया था।



और भी पढ़ें :